पूजा-अर्चना के साथ धान खरीदी शुरु, किसानों में खासा उत्साह

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp
  • 22.66 लाख किसानों से 2399 केंद्रों पर खरीदी

रायपुर। प्रदेश में बुधवार से धान की सरकारी दर खरीदी शुरू हो गई है। 2399 सहकारी समितियों के माध्यम से सरकार धान की खरीदी होगी। सरकार ने करीब 105 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा है। इस साल धान बेचने के लिए करीब 22.66 लाख किसानों ने पंजीयन कराया है। किसानों-ग्रामीणों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए राज्य शासन ने 88 नवीन धान उपार्जन केंद्रों को प्रारंभ करने की अनुमति प्रदान की गई है। धान खरीदी शुरु होने पर खरीदी केंद्रों पर किसानों में खासा उत्साह देखने को मिला। बारदाने का संकट होने के बीच सरकार ने किसानों को बारादाने के बदले 25 रुपये देने का निर्णय किया है।

मुख्य सचिव अमिताभ जैन रायपुर के जरोदा और बंगोली उपार्जन केंद्र पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने धान विक्रय के लिए आए किसानों का फूल-मालाओं से स्वागत किया। पूजा-अर्चना के बाद उन्होंने खुद धान तौल कर धान-खरीदी की शुरुआत की। राज्य शासन द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के तहत समर्थन मूल्य पर किसानों से धान की नकद एवं लिंकिंग के माध्यम से खरीदी एक दिसम्बर 2021 से 31 जनवरी 2022 तक तथा मक्का की खरीदी एक दिसम्बर 2021 से 28 फरवरी 2022 तक की जाएगी।

खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के लिए औसत अच्छी किस्म के धान के लिए समर्थन मूल्य की दर, धान कॉमन 1940 रुपए प्रति क्विंटल, धान ग्रेड ए 1960 रुपए प्रति क्विंटल तथा औसत अच्छी किस्म के मक्का का समर्थन मूल्य 1870 रूपए प्रति क्विंटल का दर निर्धारित है। धान खरीदी व्यवस्था के सुचारू एवं पारदर्शी रूप से संचालन के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किये गये हैं। इन नोडल अधिकारियों द्वारा प्रतिदिन धान खरीदी तथा अन्य व्यवस्था व समस्याओं से संबंधित स्थितियों की मॉनिटरिंग की जाएगी।

किसानों को बारदाने के लिए मिलेंगे अब 25 रुपये

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर किसानों को अब पुराने बारदाने के एवज में 25 रुपए का भुगतान किया जाएगा । इस संबंध में खाद्य विभाग द्वारा आज आदेश जारी कर दिया गया है।

मालूम हो कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए किसानों को अपने बारदाने में धान लाने की छूट राज्य शासन द्वारा दी गई है। किसानों द्वारा स्वयं के बारदाने में लाए गए धान की खरीदी के साथ उन्हें पुराने बारदाने की एवज में पूर्व में 18 रुपये का भुगतान किया जाना था। मुख्यमंत्री श्री बघेल के निर्देश पर बारदाने की पूर्व निर्धारित दर प्रति नग 18 रुपये को बढ़ाकर अब 25 रुपये कर दिया गया है।

कोदो, कुटकी और रागी की होगी समर्थन मूल्य पर खरीदी

कोदो, कुटकी तथा रागी जैसे मिलेट फसलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सरकार ने इस वर्ष से समर्थन मूल्य पर खरीदी करने का निर्णय लिया है। एक दिसम्बर 2021 से 31 जनवरी 2022 तक चलने वाली इस खरीदी अभियान के तहत वनवासियों-किसानों से कोदो तथा कुटकी का समर्थन मूल्य 30 रूपए प्रति किलोग्राम तथा रागी का समर्थन मूल्य 33.77 रूपए प्रति किलोग्राम निर्धारित किया गया है। इसको लेकर मुख्य सचिव ने पत्र जारी कर सभी कलेक्टरों को इन मिलेट फसलों के उचित भण्डारण के निर्देश दिए हैं। साथ ही यह भी कहा गया है कि राज्य सरकार द्वारा कोदो, कुटकी तथा रागी का समर्थन मूल्य में क्रय किए जाने का यह पहला वर्ष है, अत: इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Recent News

Related News