Home छत्तीसगढ़ बिना वाहन पास के जा रही कार को चेकपोस्ट पर रोका तो...

बिना वाहन पास के जा रही कार को चेकपोस्ट पर रोका तो भड़के; कर्मचारियों को गाली देते हुए कहा- जानते हो मैं कौन हूं, पूर्व सरपंच यादव

23
0

कोरोना संक्रमण के बीच जब कर्मचारी, पुलिसकर्मी और डॉक्टर अपनी जान जोखिम में डालकर ड्यूटी कर हैं, तब नेता जी नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए गुंडई कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ के कोरबा में चेकपोस्ट पर बिना वाहन पास के जा रही कार को ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी ने रोका तो नेता जी उस पर भड़क गए। कार से उतर कर गालियां देनी शुरू कर दी। कहा कि जानते हो मैं कौन हूं? पूर्व सरपंच यादव। फिलहाल घटना का वीडियो अब वायरल है।

संक्रमण के बढ़ते दायरे को देखते हुए प्रदेश में लॉकडाउन है। ऐसे में सरकार की ओर से एक जिले से दूसरे में जाने के लिए वाहन पास बनवाना अनिवार्य किया गया है। इसकी जांच के लिए चेकपोस्ट भी बनाए गए हैं। ऐसे ही एक चेकपोस्ट बलौदा-उरगा मार्ग पर कोरबा के पंतोरा में बिलासपुर और जांजगीर चांपा सीमा पर बनाया गया है। यहां हर आने-जाने वाले वाहनों चालकों से पूछताछ के बाद ही उन्हें जिले में प्रवेश दिया जा रहा है।

पहले डॉक्टर की पर्ची दिखाई, जब पास मांगा तो धौंस दिखाने लगे

पंतोरा में बनाई गई इस चेकपोस्ट पर बुधवार दोपहर करीब 3 बजे अन्य वाहनों के साथ एक कार भी आई। चेकपोस्ट के कर्मचारियों ने कार को रोका तो अंदर दो लोग बैठे थे। उन्होंने डॉक्टर का पर्चा दिखाया और मरीज की जांच कराकर वापस आने की बात कही। इस पर कर्मचारियों ने उनसे लिखित अनुमति वाहन पास मांगा। उन्होंने पास होने से इनकार किया और फिर गाड़ी से उतर कर कर्मचारियों को धौंस दिखाना शुरू कर दिया।

जिसे मरीज बताया, वह भी कार से उतर कर धमकी देने लगा

उसने कर्मचारियों से कहा कि जानते नहीं हो, मैं कौन हूं? यहीं का आदमी हूं। मैं उरगा का पूर्व सरपंच यादव हूं। इसके बाद गालियां देनी शुरू कर दी। इस पर अन्य कर्मचारियों ने बचाव किया तो जिसे मरीज बताया था, वह व्यक्ति भी कार से उतर आया और गालियां देनी शुरू कर दी। कर्मचारियों पर दबाव बना रहा था कि पुलिसकर्मी आ गए। इसके बाद वहां तैनात कांस्टेबल से SDM की बात कराई, तो उन्हें जाने दिया गया।

इस हंगामे और विवाद के चलते 20 मिनट तक जाम लगा रहा

इस पूरे हंगामे के दौरान दूसरी ओर से सड़क पर वाहनों की लाइन लग गई। करीब 20 मिनट तक जाम की स्थिति रही। इस दौरान दवाइयां लेकर एक वाहन भी निकल रहा थाा। जब उसके ड्राइवर ने हंगामा कर रहे कार सवारों से साइड देने को कहा तो वे उस पर भी भड़क गए। आरोप है कि गालियां देते हुए उसे थप्पड़ भी मार दिया। हालांकि, नेताजी के रसूख के चलते उनके ऊपर कोई कार्रवाई भी नहीं की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here