Home छत्तीसगढ़ रायपुर में मकान ढहे, पेंड्रा से बिलासपुर और कोरबा का संपर्क टूट

रायपुर में मकान ढहे, पेंड्रा से बिलासपुर और कोरबा का संपर्क टूट

81
0
  • प्रदेश में बाढ़ का कहर, महानदी सहित कई नदी-नाले उफान पर

स्वदेश संवाददाता, रायपुर

राज्य में भारी बारिश के चलते कई इलाकों में बाढ़ का कहर जारी है। महानदी सहित कई नदी-नाले उफान पर हैं। राजधानी रायपुर के 144 मकान ढह गए हैं। प्रशासन की ओर से गांव को खाली कराया जा रहा है। वहीं पेंड्रा से बिलासपुर, मरवाही, कोटमी, कोरबा, बस्ती बगरा से संपर्क टूट गया है। जांजगीर-चांपा में शबरी पुल के ऊपर तक महानदी का पानी पहुंच गया है। पुलिस ने पुल पर जाने से रोकने के लिए दोनों ओर बैरिकेट्स लगाकर रास्ता बंद कर दिया है। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में पुलों के ऊपर से पानी बह रहा है।

रायपुर-जगदलपुर राज्य मार्ग-30 पर लैंडस्लाइड

कांकेर जिले में लगातार हो रही बारिश के चलते रायपुर-जगदलपुर राज्य मार्ग-30 पर बुधवार की दोपहर चारामा घाट में लैंडस्लाइड हुई है। सड़क के दोनों ओर खड़ी चट्टानों के टुकड़े सड़क पर गिर गए हैं। जिसके चलते आवाजाही को रोका गया था।

आठ ग्रामीणों को एसडीआरएफ की टीम ने बचाया

रायपुर में 144 मकान ढह गए हैं। सबसे अधिक नुकसान गोबरा-नवापारा में हुआ है। वहां की कई बस्तियों को खाली करा लिया गया है। अभनपुर के पास महानदी की बाढ़ में फंसे आठ ग्रामीणों को एसडीआरएफ की टीम ने बचाया है।

बलौदाबाजार में महानदी के जलस्तर में लगातार बढ़ोत्तरी

बलौदाबाजार जिले के शिवरीनारायण में ऊपरी हिस्सों में हो रही लगातार बारिश से महानदी उफान पर है। बुधवार सुबह 5 बजे तक 12 घंटे में ही 5 फीट इजाफा हो गया। नदी का पानी जांजगीर-चांपा और बलौदाबाजार जिले को जो?ने वाले शबरी पुल से निचले हिस्से को छूने लगा है। शिवरीनारायण में शिवनाथ, जोक और महानदी तीन नदियों का संगम है। नगर के सभी वार्डों सहित खासकर नदी किनारे हिस्सों में मुनादी कराकर लोगों से बच्चों को संभालकर रखने, अपने जानवरों को बांध कर रखने व निचले हिस्से के लोगों को सुरक्षित स्थान पर जाने की अपील की जा रही है।

बिलासपुर में अरपा नदी के जलस्तर में बढ़ोत्तरी

बिलासपुर में बारिश ने जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। अरपा भैंसाझार बांध भी लबालब हो गया और प्रशासन को बांध के गेट खोलने पड़े। गेट खुलने से अरपा नदी का जलस्तर बढ़ गया। शहर के बीच से बहने वाली अरपा के दोनों किनारों पर भी पानी चढ़ गया। बुधवार की दोपहर शनिचरी बाजार रपटा भी बढ़े हुए जल स्तर की वजह से डूब गया। नदी का पानी उसके ऊपर से बहने लगा। शनिचरी रपटा से लोगों की आवाजाही बंद कर दी गई तो वहीं सरकंडा, जूना बिलासपुर और दोमुहानी समेत अरपा नदी के तटीय और निचले इलाकों में सतर्क रहने की चेतावनी दी गई है।

Previous articleयुवा लेखकों का स्तंभ : अफगानिस्तान मामले में सुरक्षा परिषद की भूमिका
Next articleमुख्यमंत्री ने जोबट में निकाली जनदर्शन यात्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here