Home छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ में शराब में होम्योपैथिक दवा मिलाकर पीने से 8 लोगों की...

छत्तीसगढ़ में शराब में होम्योपैथिक दवा मिलाकर पीने से 8 लोगों की मौत, 5 अस्पताल में भर्ती; पूरी बस्ती की जांच हो रही

17
0

कोरोना से बचने के लिए कई लोग नासमझी वाले कदम उठा रहे हैं। छत्तीसगढ़ में बिलासपुर के एक गांव में कुछ युवकों ने महुए की कच्ची शराब के साथ होम्योपैथिक की ड्रोसेरा कफ सिरप मिलाकर पी ली। इससे 8 युवकों की मौत हो गई। 5 युवकों को CIMS अस्पताल में इलाज चल रहा है।

घटना जिले के सिरगिट्टी इलाके के कोरमी धुरीपारा गांव की है। बताया जा रहा है कि बस्ती में इस होम्योपैथिक सिरप को कई परिवारों में इस्तेमाल किया जा रहा था। लेकिन युवकों ने इसे शराब में मिलाकर पी लिया, जिससे यह जानलेवा हो गया। जान गंवाने वालों में से 4 की मौत बुधवार सुबह हुई, जबकि 4 ने शाम तक दम तोड़ दिया।

देर रात सूचना मिलते ही पुलिस गांव में पहुंची

गांववालों ने पुलिस को एकसाथ 4 युवकों की मौत की सूचना दी। इस पर थाना प्रभारी देर रात टीम के साथ गांव पहुंच गए। पूछताछ में पूरी घटना का खुलासा हुआ इसके बाद बाकी बीमार युवकों को कुछ युवकों को CIMS में भर्ती किया गया। एक युवक की हालत गंभीर थी, जिसे अपोलो अस्पताल में भर्ती किया गया। इनमें से तीन युवकों ने इलाज के दौरान जबकि एक न गांव में ही दम तोड़ दिया।

अब स्वास्थ्य विभाग ने गांव में कैंप लगाकर बस्ती के सभी लोगों की जांच शुरू कर दी है। कुछ युवक ऐेसे भी मिले हैं, जिन्होंने यह सिरप पिया था, लेकिन उन्हें कुछ नहीं हुआ। पुलिस होम्योपैथिक क्लीनिक के डॉक्टर को हिरासत में लेने के लिए छापे मार रही है।

डॉक्टर ने कहा- सिरप नहीं प्योर फार्म होगा

होम्योपैथी के डाक्टर निशांत शुक्ला का कहना है कि युवकों ने जो पिया है वह सिरप (मदर टिंचर) नहीं होगा, बल्कि डाल्यूटर होगा। मदर टिंचर में काफी कम पोटेंसी होती है, जबकि डाल्यूटर में 90% से भी ज्यादा अल्कोहल होता है। ऐसा लिक्विड पीने से लिवर, हार्ट पर बहुत असर होता है और मौत हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here