Home छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ में भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मुख्यमंत्री बघेल से मिलने का...

छत्तीसगढ़ में भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मुख्यमंत्री बघेल से मिलने का समय मांगा, मुख्यमंत्री ने कहा – स्वागत है 12 को वर्चुअल मीटिंग करते हैं

19
0

कोरोना से मचे हाहाकार के बीच छत्तीसगढ़ में सरकार और विपक्षी भाजपा के बीच रस्साकसी जारी है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने शनिवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर प्रतिनिधिमंडल के साथ मिलने का समय मांगा। जवाब में मुख्यमंत्री ने बातचीत का स्वागत करते हुए वर्चुअल बैठक का प्रस्ताव रखा। मुख्यमंत्री सचिवालय ने आज बैठक का समय भी तय कर दिया। बताया गया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के नेतृत्व में वरिष्ठ नेताओं के प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक की सहमति दी है। यह वर्चुअल बैठक 12 मई को दोपहर 12 बजे से होगी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने मुलाकात के लिए रविवार का समय मांगा था, लेकिन मुख्यमंत्री की ओर से 12 मई की तारीख तय हुआ है। मुख्यमंत्री सचिवालय का कहना है, मुख्यमंत्री रोज ही मैदानी अधिकारियों से कोविड-19 को लेकर लगातार वर्चुअल संवाद कर रहे हैं। मुख्यमंत्री आज मंत्रियों के साथ एक वर्चुअल बैठक में हैं। उसके बाद प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारियों के साथ उनकी बैठक होनी है। 10 मई को मुख्यमंत्री कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में रहने वाले हैं। वहीं 11 मई को प्रदेश के सांसदों और विधायकाें के साथ संवाद पहले से तय है। पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों में व्यस्तता के चलते मुख्यमंत्री ने भाजपा के वरिष्ठ नेताओें के प्रतिनिधिमण्डल को 12 मई को दोपहर 12 बजे वर्जुअल मीटिंग के माध्यम से चर्चा के लिए आमंत्रित किया है। मुख्यमंत्री सचिवालय ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय को इसकी सूचना दी है।

आमने-सामने की बैठक चाहती है भाजपा

भाजपा नेताओं का कहना है कि वे इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री के साथ आमने-सामने बैठना चाहते थे। पिछले कई दिनों से अपने गृहग्राम में रह रहे प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय शनिवार शाम इस बैठक के लिए ही रायपुर पहुंचे हैं। बैठक के लिए समय नहीं मिलने पर उन्हें निराशा हाथ लगी है।

थोड़ी देर में प्रेस से बात करेंगे भाजपा नेता

भाजपा इस मुद्दे पर आक्रामक है। प्रदेश कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय सहित पांच वरिष्ठ नेता 3 बजे से प्रेस से बात करेंगे। इन नेताओं में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, विधायक बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर और सांसद सुनील सोनी शामिल हैं।

कांग्रेस ने रमन सिंह की गैर मौजूदगी पर उठाए सवाल

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल में पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह का नाम नहीं होने पर सवाल उठा दिया है। विकास तिवारी ने कहा, जहां एक और पूरा देश और समूचा छत्तीसगढ़ प्रदेश कोरोना महामारी से निर्णायक लड़ाई लड़ रहा है और कोरोना महामारी को परास्त करने के लिए सारी शक्तियां लगाई जा रही हैं। वहीं दूसरी ओर प्रदेश भाजपा में गुटबाजी का संक्रमण अपने चरम पर है। नेता एक दूसरे को निपटाने के लिए आपस में लड़ रहे हैं। मुख्यमंत्री के साथ बैठक के लिए भाजपा अध्यक्ष की ओर से तय सदस्यों की सूची में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का नाम नदारद है। यह बताता है कि भाजपा में गुटबाजी अपने चरम पर है।

आमने-सामने की बैठक चाहती है भाजपा

भाजपा नेताओं का कहना है कि वे इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री के साथ आमने-सामने बैठना चाहते थे। पिछले कई दिनों से अपने गृहग्राम में रह रहे प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय शनिवार शाम इस बैठक के लिए ही रायपुर पहुंचे हैं। बैठक के लिए समय नहीं मिलने पर उन्हें निराशा हाथ लगी है।

थोड़ी देर में प्रेस से बात करेंगे भाजपा नेता

भाजपा इस मुद्दे पर आक्रामक है। प्रदेश कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय सहित पांच वरिष्ठ नेता 3 बजे से प्रेस से बात करेंगे। इन नेताओं में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, विधायक बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर और सांसद सुनील सोनी शामिल हैं।

कांग्रेस ने रमन सिंह की गैर मौजूदगी पर उठाए सवाल

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल में पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह का नाम नहीं होने पर सवाल उठा दिया है। विकास तिवारी ने कहा, जहां एक और पूरा देश और समूचा छत्तीसगढ़ प्रदेश कोरोना महामारी से निर्णायक लड़ाई लड़ रहा है और कोरोना महामारी को परास्त करने के लिए सारी शक्तियां लगाई जा रही हैं। वहीं दूसरी ओर प्रदेश भाजपा में गुटबाजी का संक्रमण अपने चरम पर है। नेता एक दूसरे को निपटाने के लिए आपस में लड़ रहे हैं। मुख्यमंत्री के साथ बैठक के लिए भाजपा अध्यक्ष की ओर से तय सदस्यों की सूची में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का नाम नदारद है। यह बताता है कि भाजपा में गुटबाजी अपने चरम पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here