Home छत्तीसगढ़ दिव्यांग एवं वरिष्ठ नागरिकों को बस में यात्रा मुफ्त, नक्सल प्रभावितों को...

दिव्यांग एवं वरिष्ठ नागरिकों को बस में यात्रा मुफ्त, नक्सल प्रभावितों को 50 फीसदी की छूट

32
0
  • मुख्यमंत्री बघेल की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में फैसला
  • दूसरे राज्य में पढ़ाई करने वालों का बनेगा निवास प्रमाण पत्र


स्वदेश संवाददाता, रायपुर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रिपरिषद की बैठक हुई। जिसमें सरकार ने फैसला किया है कि दिव्यांग के साथ साथ 80 वर्ष या उससे अधिक वरिष्ठ नागरिक और एचआईवी एड्स से पीडि़त व्यक्तियों को राज्य में किसी भी स्थान पर उपचार या अन्यथा के लिए एक सहायक के साथ यात्रा मुफ्त में कर सकेंगे।

डीजल के मूल्य में वृद्धि एवं बस संचालन में अन्य लागत के परिणामस्वरूप प्रक्रम यात्री वाहनों (नगर वाहन सेवा एवं संविदा वाहनों को छो?कर) के यात्री किराए की दर में वृद्धि का अनुमोदन किया गया। बैठक में यह भी फैसला लिया गया है कि ‘नक्सल प्रभावित व्यक्ति’प्रमाण पत्र रखकर राज्य के भीतर यात्री बस में 50 प्रतिशत की छूट मिलेगी। इस छूट का फायदा उठाने के लिए व्यक्ति के पास संबंधित जिले के पुलिस अधीक्षक की अनुशंसा और कलेक्टर की ओर से जारी नक्सल प्रभावित व्यक्ति का प्रमाण पत्र दिखाना होगा।

राज्य बाहर पढ़ाई करने वालों को भी बनेगा निवास प्रमाण पत्र

सरकार ने फैसला किया है कि ऐसे आवेदक जिनके माता-पिता छत्तीसग? राज्य का स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र प्राप्त करने की पात्रता रखते है, छत्तीसगढ़ राज्य से बाहर अन्य राज्यों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं अथवा प्राप्त किए हैं, उन्हें भी छत्तीसगढ़ राज्य का स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र देने का निर्णय लिया गया।

बिलासपुर बोर्ड में गौरला-पेण्ड्रा-मरवाही होगा शामिल

सरकार ने फैसला किया है कि प्रदेश के अधिसूचित क्षेत्रों में राज्य सरकार द्वारा विभिन्न विभागों के जिला संवर्ग के तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों को उस क्षेत्र के स्थानीय निवासी से भरे जाने हेतु बस्तर, सरगुजा और बिलासपुर विशेष कनिष्ठ कर्मचारी चयन बोर्ड का गठन किया गया है। बिलासपुर बोर्ड में एक जिला कोरबा शामिल हैं, इस बोर्ड के कार्यक्षेत्र में ”गौरला-पेण्ड्रा-मरवाही” जिले को भी सम्मिलित करने का निर्णय लिया गया। सरकार ने राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव कराने का फैसला किया है।

यह महोत्सव 28 अक्टूबर से शुरू होकर एक नवम्बर तक चलेगा। बताया गया, महोत्सव के तहत शुरुआती तीन दिन आदिवासी नर्तक दलों का प्रदर्शन होगा। 31 अक्टूबर को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर प्रदर्शनी और डॉक्यूमेंट्री का प्रदर्शन होगा। एक नवम्बर को राज्योत्सव है। उस दिन भव्य कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

निजी विद्यालयों को नवोदय के बराबर होगा भुगतान

छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना-2021 के तहत निजी विद्यालयों के संदर्भ में शासन द्वारा वहन किए जाने वाले व्यय की अधिकतम सीमा केन्द्र सरकार द्वारा संचालित आवासीय नवोदय एवं एकलव्य विद्यालय में शैक्षणिक व्यय के समतुल्य अथवा उक्त निजी विद्यालय की वास्तविक व्यय जो भी कम हो का अनुमोदन किया गया।

सरकार खरीदेगी कोदो, कुटकी और रागी

राज्य मंत्रिपरिषद ने मिलेट मिशन को अगले वित्तीय वर्ष यानी साल 2022-23 से लागू करने का फैसला किया है। इसके तहत कोदो, कुटकी और रागी जैसे अनाज उत्पादन को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस उत्पादन को राज्य सरकार, छत्तीसगढ़ लघु वनोपज सहकारी संघ के जरिए खरीदेगी। इसका अनाज का उपयोग सार्वजनिक वितरण प्रणाली, स्कूलों के मध्यान्ह भोजन और आंगनवाड़ी के पोषक आहार कार्यक्रम में किया जाना है।

Previous articleदिल्ली के नये मप्र भवन में होगा राज्य के वैभव का दिग्दर्शन: शिवराज
Next articleपैरा खिलाडिय़ों के सम्मान में मंत्री अनुराग ठाकुर ने खड़े होकर बजाई तालियां

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here