Home छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ में कोरोना के 247 नए केस, रायपुर और बिलासपुर में 3-3...

छत्तीसगढ़ में कोरोना के 247 नए केस, रायपुर और बिलासपुर में 3-3 छात्राएं संक्रमित

25
0

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बुधवार को कोरोना के 247 नए संक्रमित मिले हैं। रायपुर में 85 नए पॉजिटिव मिले हैं। पिछले 24 घंटे में राजधानी की एक समेत 7 मौत हुई है। वहीं स्कूल खुलने के बाद छात्राएं लगातार संक्रमित हो रही हैं।
राजधानी के अमलीडीह में 17 साल की स्कूल छात्रा और उसकी दो सहेलियां कोरोना संक्रमित हो गईं। उसके बाद मंगलवार को अमलीडीह में रहने वाली इस स्कूली छात्रा के अभिभावकों ने एहतियात के तौर पर उसका भी टेस्ट करवाया। उनकी टेस्ट रिपोर्ट भी बुधवार को पॉजिटिव आई है। दूसरी ओर बिलासपुर जिले के शासकीय हाई स्कूल पाली की तीन छात्राओं की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
संपर्क में रहे बाकी छात्र-छात्राएं और शिक्षकों सहित परिवार वालों की भी कोविड जांच होगी। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद ही स्कूल को सील कर तीनों छात्राओं को होम आइसोलेट कर दिया है।
धरसीवां के एक ही परिवार की 3 और 6 साल की बच्चियां भी संक्रमित
रायपुर जिले में बुधवार को मिले कोरोना केस में धरसीवां के एक ही परिवार की दो बच्चियां संक्रमित पायीं गईं। इसमें एक बच्ची तीन साल की और दूसरी 6 साल की है। वहीं राजधानी में एक दस साल के बच्चा भी पॉजिटिव मिला है।
अब युवा ज्यादा पीड़ित
राजधानी में पिछले एक हफ्ते में कोरोना संक्रमण के ज्यादा केस एक-दो इलाकों में हैं। गंभीर मामला ये है कि पिछले एक हफ्ते में युवा ही ज्यादा पाॅजिटिव हुए हैं। फरवरी के आखिरी हफ्ते मेंं कोरोना का ट्रेंड अचानक बदला है। कोरोना संक्रमण के ज्यादातर मामले युवाओं में देखे जा रहे हैं।
रायपुर में रविवार से बुधवार के बीच मिले सवा दो सौ से अधिक केस में ज्यादातर की उम्र 20 से 45 वर्ष के बीच है। इसके बाद जिस आयु समूह में कोरोना के ज्यादा मामले देखे जा रहे हैं, वो 55 से 70 साल की उम्र के हैं। माना जा रहा है कि बाहर रहने और सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी करने की वजह से युवा वर्ग कोरोना से संक्रमित हो रहा है।
मंत्रालय में सेक्शन अफसर समेत 3 पाॅजिटिव
मंत्रालय में कोरोना के तीन दिन में तीन केस मिलने से खलबली मच गई है। मिली जानकारी के मुताबिक मंत्रालय के सूचना प्रकोष्ठ में तीन दिन पहले दो क्लर्क पाॅॅजिटिव निकले थे। बुधवार को एक सेक्शन अधिकारी संक्रमित पाए गए। तीनों ने बाहर जांच करवाई, रिपोर्ट पाॅजिटिव होने के बाद अपने अफसरों को सूचना दी। रजिस्ट्रार एनपी मरावी ने इसकी पुष्टि की है। गौरतलब है, जब राज्य में कोरोना पीक पर था, तब मंत्रालय में करीब तीन दर्जन मरीज मिले थे और दफ्तर महीनों तक बंद रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here