Home बिहार बिहार: BJP विधायक के बेटे की शादी में उड़ी कोरोना गाइडलाइन की...

बिहार: BJP विधायक के बेटे की शादी में उड़ी कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां

54
0

सोमवार रात अररिया जिले के फारबिसगंज में BJP विधायक विद्यासागर केसरी के बेटे प्रेम केसरी की शादी में न सिर्फ सरकार के निर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गईं बल्कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का भी ख्याल नहीं रखा गया. 

बिहार सरकार ने शादी में अधिकतम 100 लोगों के शामिल होने का निर्देश जारी किया हुआ है. इसके साथ ही रात 9 बजे के बाद पूरे राज्य में नाइट कर्फ्यू भी लागू ह… खुद नीतीश कुमार ने कहा था कि लोगों को समझना चाहिए कि जब नाइट कर्फ्यू है तो शादी का कार्यक्रम उससे पहले ही खत्म कर लें. लेकिन सोमवार रात अररिया जिले के फारबिसगंज में BJP विधायक विद्यासागर केसरी के बेटे प्रेम केसरी की शादी में न सिर्फ सरकार के निर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गई बल्कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का भी ख्याल नहीं रखा गया. 

इस शादी में 100 से कहीं ज्यादा लोग शामिल हुए हैं. दूल्हा-दुल्हन समेत शादी में आए ज्यादातर लोगों ने कोरोना गाइडलाइंस और सरकार के निर्देशों का पालन नहीं किया. विद्यासागर केसरी फारबिसगंज से विधायक हैं, कोठीहाट रोड स्थित सिद्ध नगर भवन में सोमवार रात उनके बेटे प्रेम केसरी की शादी हुई है. 

बिहार में कोरोना का प्रकोप दिनों दिन बढ़ता जा रहा है, बिहार सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों में 11801 नए कोरोना मरीज सामने आए हैं. जिसके बाद बिहार में कुल एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 89660 तक पहुंच गई है. बिहार में कोरोना से अब तक 2222 लोगों की मौत हो चुकी है.

बिहार में कोरोना संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को उच्च स्तरीय बैठक की और कोरोना का इलाज कर रहे सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया. वहीं दूसरी ओर, लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों की वजह से अस्पतालों में बेड के लिए भी किल्लत अभी भी जारी है. मरीजों को जरूरी दवाइयां नहीं मिल रही और अस्पतालों से ऑक्सीजन की कमी की शिकायतें मिल रही हैं. 

इन सबके बीच पटना के जिलाधिकारी ने 90 निजी अस्पतालों की एक लिस्ट जारी की. अपने आदेश में DM ने कहा कि सरकारी अस्पतालों के अलावा सिर्फ इन्हीं 90 निजी अस्पतालों को कोरोना मरीज भर्ती करने की इजाजत होगी. अगर इनके अलावा कोई दूसरा अस्पताल अस्पतालों में बेड के लिए भी किल्लत अभी भी जारी है. मरीजों को जरूरी दवाइयां नहीं मिल रही और अस्पतालों से ऑक्सीजन की कमी की शिकायतें मिल रही हैं. 

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने आजतक से बातचीत में ये स्वीकार किया कि राज्य में स्थिति अब गंभीर हो रही है. हालांकि स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य में लॉकडाउन को अपना अंतिम विकल्प बताया. लेकिन साथ ही ये भी कहा कि सरकार जरूरत के मुताबिक उचित निर्णय लेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here