Home छत्तीसगढ़ टीकाकरण पर रोक के आदेश की भाषा पर सियासी घमासान, भाजपा ने...

टीकाकरण पर रोक के आदेश की भाषा पर सियासी घमासान, भाजपा ने की केंद्रीय मंत्री से शिकायत

43
0

रायपुर,  कोरोना की वैक्सीन (टीका) को लेकर जारी राज्य सरकार के सर्कुलर पर सियासी घमासान मचा है। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने केंद्र सरकार से लिखित शिकायत की है। केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण राज्य मंत्री डा. जितेंद्र सिंह को लिखी शिकायत में चंद्राकर ने सरकार के पत्र की भाषा को असंसदीय बताते हुए कार्रवाई की मांग की है।

चंद्राकर ने कहा कि हाई कोर्ट की टिप्पणी के बाद स्वास्थ्य विभाग के उप सचिव सुरेंद्र सिंह बाघे ने पांच मई की रात एक आदेश जारी किया। इसमें बताया गया कि 18 वर्ष से ज्यादा आयुवर्ग वालों के टीकाकरण को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। चंद्राकर ने कहा कि इस आदेश में विभाग ने प्राथमिकता तय करने के पिछले आदेश पर सफाई देने करने की कोशिश की थी।

इसमें कहा गया था कि भारत सरकार का कोविन पोर्टल केवल मोबाइल नंबर और ओटीपी के आधार पर रजिस्ट्रेशन की अनुमति देता है। अधिकांश लोगों के पास मोबाइल नहीं है। उनके पास कनेक्टिविटी और इंटरनेट भी नहीं है। इसलिए उनके लिए कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना लगभग असंभव है।

इससे पहले पोर्टल पर आनसाइट रजिस्ट्रेशन की सुविधा थी, लेकिन भारत सरकार ने 18 से 45 वर्ष आयु तक के लिए यह सुविधा वापस ले ली, जो गरीब लोगों के साथ बहुत बड़ा भेदभाव है। चंद्राकर ने पत्र की भाषा को बेहद आपत्तिजनक और राजनीति से प्रेरित बताया है। चंद्राकर ने आरोप लगाने वाले इस सर्कुलर पर कार्रवाई करने की मांग की है। चंद्राकर ने शिकायत की प्रतिलिपि मुख्य सचिव अमिताभ जैन को भी भेजी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here