Home खेल टोक्यो ओलंपिक : भारतीय महिला हॉकी टीम ने रचा इतिहास, प्रधानमंत्री मोदी...

टोक्यो ओलंपिक : भारतीय महिला हॉकी टीम ने रचा इतिहास, प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई

55
0

नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक खेलों के 10वें दिन सोमवार को भारतीय महिला हॉकी टीम ने तीन बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराकर इतिहास रच दिया। भारत के लिए एकमात्र विनिंग गोल गुरजीत कौर ने 22वें मिनट में किया। यह जीत इसलिए इतना खास है क्योंकि महिला टीम ने ओलंपिक खेलों के इतिहास में पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाई है।

महिला टीम से पहले पुरुष टीम भी ग्रेट ब्रिटेन को हराकर सेमीफाइनल में जगह बना चुकी है। भारत की इस शानदार जीत के बाद चारों ओर हर कोई टीम की तारीफ कर रहा है। हॉकी टीम को देश के कोने कोने से बधाइयां मिल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दोनों टीमों की तारीफ की है।

प्रधानमंत्री ने महिला टीम की जीत के बाद ट्वीट कर लिखा, ‘ पीवी सिंधु ने न केवल एक योग्य पदक जीता है, बल्कि हमने ओलंपिक में पुरुष और महिला हॉकी टीमों के ऐतिहासिक प्रयासों को भी देखा है। मुझे आशा है कि 130 करोड़ भारतीय भारत को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए कड़ी मेहनत करना जारी रखेंगे क्योंकि यह अमृत महोत्सव मना रहा है।’

प्रधानमंत्री के अलावा भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरेल ने भी भारतीय महिला हॉकी टीम को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ‘ एक मुश्किल हॉकी मैच था, लेकिन आपका (भारत) डिफेंस अंत तक मजबूत बना रहा। सविता पुनिया। भारत की शानदार दीवार, जिन्हें हराया नहीं जा सका! सेमी और ग्रैंड फाइनल के लिए शुभकामनाएं।’

उनके अलावा खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और पूर्व खेल मंत्री किरण रिजिजू समेत कई लोगों ने टीम को उनकी रोमांचक और शानदार जीत के लिए बधाई दी है। भारतीय टीम मास्को ओलंपिक 1980 में चौथे स्थान पर रही थी लेकिन केवल छह टीमों ने हिस्सा लिया था और मैच राउंड रोबिन आधार पर खेले गये थे। भारतीय हॉकी टीम अपने पूल में साउथ अफ्रीका को आयरलैंड जैसी मजबूत टीमों को हराकर चौथे स्थान पर रही थी, जबकि ऑस्ट्रेलिया ने अपने पूल में टॉप पर रहते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई थी।

Previous articleभारत-ईरान के बदल रहे संबंध, नए राष्‍ट्रपति राइसी के शपथ ग्रहण में भाग ले सकते हैं एस. जयशंकर
Next articleओलंपिक में पदक जीतने के बाद बोली सिंधू,सेमीफाइनल में हारने के बाद निराश थी, कोच ने प्रेरित किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here