Home खेल ब्रेंडन टेलर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा

ब्रेंडन टेलर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा

25
0

हरारे,जिम्बॉब्वे के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का आखिरी मैच आयरलैंड के खिलाफ खेला। इसी के साथ ब्रेंडन टेलर के 17 साल लंबे इंटरनेशनल क्रिकेट करियर का समापन हो गया। जिम्बॉब्वे के इस धाकड़ खिलाड़ी ने साल 2004 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए अपने रिटायरमेंट की घोषणा की।

अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करते हुए उन्होंने ट्वीट कर लिखा, बड़े ही भारी मन से मैं यह एलान कर रहा हूं कि कल मेरा अपने प्यारे देश जिम्बॉब्वे के लिए आखिरी मैच है, 17 साल के इस चरम और उतार को मैं दुनिया के लिए नहीं बदलूंगा। इसने मुझे विनम्र होना सिखाया है, जिसने मुझे हमेशा याद दिलाया कि मैं कितना भाग्यशाली था इतने लंबे समय के लिए जिस स्थिति में था उसमें रहा, गर्व से बैज पहना और सब कुछ मैदान पर छोड़ देना।
ब्रेंडन टेलर ने कहा कि मेरा हमेशा उद्देश्य टीम को बेहतर स्थिति में छोड़ने का था, क्योंकि जब मैं पहली बार साल 2004 में आया था मुझे उम्मीद है कि मैंने ऐसा किया है, 34 वर्षीय जिम्बॉब्वे के बल्लेबाज ने अपने क्रिकेट बोर्ड,
साथियों, परिवार और फैंस के लिए भावुक संदेश लिखा। अंत में उन्होंने पत्नी और अपने चार बच्चों के बारे में कहा आपका होना मेरे लिए सब कुछ है, अगर आप सब न होते तो यह यात्रा संभव नहीं थी।

वनडे में जिम्बॉब्वे के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे खिलाडी

ब्रेंडन टेलर जिम्बॉब्वे के लिए 204 मैच खेल चुके हैं। आज वह बेलफास्ट में अपना 205वां मैच खेलेंगे। उनके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का यह आखिरी मैच होगा। टेलर के वनडे रिकॉर्ड पर नजर डाली जाए तो वह 205वें मैच से वनडे में 6677 रन बना चुके हैं। एकदिवसीय मैचों में उन्होंने 11 शतक और 39 अर्धशतक लगाए हैं। एंडी फ्लावर के बाद वह अपने देश के लिए वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे खिलाड़ी हैं। फ्लावर के नाम एकदिवसीय मैचों में 6786 रन दर्ज हैं। इसके अलावा टेलर ने अपने देश के लिए 34 टेस्ट और 45 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेले हैं।

साथी खिलाड़ियों ने दिया गार्ड ऑफ ऑनर

टेलर जब बल्लेबाजी करने किए आए तो उनके साथी खिलाड़ियों ने साथ मिलकर उनको ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया। इसमें सभी खिलाड़ी एक लाइन में साथ खड़े होकर संन्यास लेने वाले खिलाड़ी के लिए तालियां बजाते हैं। टेलर के पास आयरलैंड के खिलाफ वनडे फॉर्मेट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में हमवतन दिग्गज बल्लेबाज एंडी फ्लॉवर को पछाड़ने का मौका था, लेकिन वे ऐसा नहीं कर सके। वनडे में पहले ही 11 शतक उनके नाम हैं, जिसकी बदौलत वे वनडे में सर्वाधिक शतक लगाने वाले देश के टॉप खिलाड़ी हैं।

Previous articleभारत ने दिखाया आर्थिक विकास और स्वच्छ ऊर्जा साथ-साथ चल सकते हैं
Next articleकिसान आंदोलन पर पंजाब व हरियाणा में ठनी, कैप्‍टन बोले- पंजाब में धरना देकर आर्थिकता प्रभावित न करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here