Home धर्म भगवान एवं भक्तों के बीच पुन: बाधक बना कोरोना, 15 मई तक...

भगवान एवं भक्तों के बीच पुन: बाधक बना कोरोना, 15 मई तक पुरी जगन्नाथ मंदिर बंद

13
0

भुवनेश्वर। भगवान एवं भक्तों के बीच पुन: कोरोना संक्रमण बाधक बना है। प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए पुरी जगन्नाथ मंदिर एक बार फिर भक्तों के लिए बंद कर दिया गया है। बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए पुरी जगन्नाथ मंदिर आज से आगामी 15 मई तक के लिए बंद किया गया है।

जगन्नाथ मंदिर के मुख्य प्रशासक किशन कुमार की अध्यक्षता में शनिवार को वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए आयोजित बैठक में यह निर्णय लिया गया है। इस बैठक में श्रीमंदिर के विभिन्न निजोग के वरिष्ठ सेवक, जिलाधीश समर्थ वर्मा, एसपी कुंवर विशाल सिंह तथा श्रीमंदिर कार्यालय के अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में कोरोना संक्रमण के कारण पुरी जगन्नाथ मंदिर में उपजने वाली विभिन्न समस्या पर विस्तार से चर्चा की गई। प्रदेश एवं देश में काफी तेजी से कोरोना संक्रमण फैल रहा है ऐसे में यदि जगन्नाथ मंदिर में भक्तों का दर्शन जारी रहता है तो फिर इसका आगामी दिनों में नीति प्रभावित हो सकती है। ऐसे में कोरोना संक्रमण के बीच महाप्रभु जगन्नाथ जी की तमाम रीति नीति जारी रखते हुए भक्तों के लिए पुरी जगन्नाथ मंदिर को बंद करने की राय सभी ने दी। महाप्रभु जगन्नाथ जी के दैनिक नीति सेवा में नियोजित सेवकों की स्वास्थ्य सुरक्षा पर बैठक में महत्व दिया गया है।

वहीं दूसरी तरफ रथ निर्माण कार्य जारी रहने की बात मंदिर प्रशासन की तरफ से कही गई है। इस साल 15 मई अक्षय तृतीया के दिन रथ निर्माण कार्य परंपरा के मुताबिक शुरू किया जाएगा। सेवकों के लिए मास्क एवं सैनिटाइजर की व्यवस्था की जाएगी। चंदन, स्नान एवं रथयात्रा के लिए मास्क एवं सानिटाइजर खरीदा जाएगा। यहां उल्लेखनीय है कि राज्य में तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। पुरी में संक्रमण की रफ्तार तेज हो गई है। आज पुरी जिले में 395 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

सेवकों के मुताबिक पुरी जगन्नाथ मंदिर में भक्तों के आगमन पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है तो फिर आगामी दिनों में होने वाली तमाम यात्रा को सुनियोजित ढंग से सम्पन्न किया जाएगा। आगामी दिनों में महाप्रभु की चंदन यात्रा, अक्षय तृतीया, स्नान यात्रा और फिर विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा होने वाली है। ऐसे में वर्तमान संक्रमण पर ब्रेक नहीं लगाया गया तो फिर स्थिति असंभाल हो जाएगी। इसे ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here