Home राजनीती महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ ने भी माना ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं, संजय...

महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ ने भी माना ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं, संजय राउत के दावे को भी ठहराया गलत

9
0

मुंबई। केंद्र सरकार की ओर से ऑक्सीजन की कमी के चलते कोई मौत न होने का दावा करने के बाद अब राज्य सरकारें भी इससे सहमति जता रही हैं। बुधवार को सुबह तमिलनाडु, बिहार और मध्य प्रदेश की सरकारों ने कहा था कि उनके राज्य में ऑक्सीजन की कमी के चलते मौत की एक भी घटना दर्ज नहीं की गई है।

अब ऐसा ही दावा शिवसेना के नेतृत्व वाले गठबंधन की महाराष्ट्र सरकार ने भी किया है। इसके अलावा छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने भी ऑक्सजीन की कमी से किसी मौत की बात से इनकार किया है। यही नहीं छत्तीसगढ़ के हेल्थ मिनिस्टर टीएस सिंह देव ने तो यह भी कहा कि हमारा राज्य ऑक्सीजन के मामले में सरप्लस रहा है। यह बात सही है कि राज्य में ऑक्सीजन की कमी के चलते कोई मौत नहीं हुई है।

दिलचस्प बात यह है कि केंद्र सरकार के दावे के बाद हमला बोलने वाले शिवसेना नेता संजय राउत के बयान को ही उनकी सरकार ने गलत ठहरा दिया है। संजय राउत ने केंद्र सरकार के दावे पर आपत्ति जताते हुए कहा था कि मेरे पास शब्द नहीं हैं। आखिर केंद्र के इस बयान से उन लोगों के परिजनों को कैसा महसूस हो रहा है, जिन्होंने ऑक्सीजन की कमी के चलते अपनी जान गंवा दी थी।

यही नहीं राउत ने कहा था कि केंद्र सरकार के खिलाफ इस तरह का झूठ बोलने को लेकर केस दर्ज किया जाना चाहिए। दरअसल मंगलवार को संसद में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ भारती प्रवीण पवार ने कहा था कि किसी भी राज्य से ऑक्सीजन की कमी के चलते मौत की जानकारी नहीं मिली है।

नासिक पर बोले महाराष्ट्र के हेल्थ सेक्रेटरी, वह एक हादसा था

बुधवार को महाराष्ट्र के हेल्थ कमिश्नर रामास्वामी एन. ने कहा कि राज्य में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई है। यही नहीं नासिक के एक अस्पताल में ऑक्सीजन लीक होने के दौरान सप्लाई रुकने की घटना में हुई मौतों को लेकर भी रामास्वामी ने कहा कि वह एक हादसा था, लेकिन राज्य में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई है।

तमिलनाडु से महाराष्ट्र तक कई सरकारें केंद्र के साथ, आप ने किया विरोध

इस तरह देखें तो देश में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई है। उनके इस बयान को लेकर विवाद खड़ा हो गया था और विपक्ष के कई नेताओं ने दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी के चलते लोगों की मौतें होने की याद दिलाई थी। लेकिन अगले ही दिन सुबह तमिलनाडु से लेकर महाराष्ट्र तक की कई सरकारों ने केंद्र सरकार के ही दावे का समर्थन किया है और कहा है कि उनके राज्य में ऑक्सीजन की कमी के चलते कोई मौत नहीं हुई है। हालांकि दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने मोदी सरकार के दावे पर हमला बोला है और कहा है कि यह गलत है।

Previous articleकर्नाटक के गृह मंत्री का ऐलान- राज्य में नहीं होगा नेतृत्व परिवर्तन, मुख्यमंत्री बने रहेंगे बीएस येदियुरप्पा
Next articleजासूसी चालू है… मैंने अपने फोन का कैमरा ढक लिया है, पेगासस हैकिंग पर ममता बनर्जी का केंद्र पर वार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here