Home देश योगी आदित्यनाथ का निर्देश- जमाखोरों व मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करें, नियंत्रण...

योगी आदित्यनाथ का निर्देश- जमाखोरों व मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करें, नियंत्रण में आएगी महंगाई

28
0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में खाद्य तेलों के साथ अन्य उत्पादों के तेजी से बढ़ते दाम पर अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोक भवन में उच्चसतरीय टीम -09 के साथ बैठक के बाद टीम को सख्त एक्शन लेने का निर्देश दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सब्जियों, खाद्य तेलों और दाल के मूल्य में अचानक तेजी देखी जा रही है। भारत सरकार ने इस संबंध में स्टॉक लिमिट भी तय की है, इसी कारण जमाखोरों के खिलाफ छापेमारी कर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि सभी जगह मूल्य नियंत्रित रहें, इसके लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं। इतना ही नहीं त्योहारों के दृष्टिगत खाद्य सामग्री में मिलावटखोरी की हर शिकायत का गंभीरता से संज्ञान लेते हुए सख्त कार्रवाई की जाए।

जनपदों में 28 से दीपावली मेला

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के सभी जनपदों में 28 अक्टूबर से दीपावली मेले का आयोजन प्रारंभ हो रहा है। दीपावली मेले में स्थानीय शिल्पकला, व्यंजन आदि उत्पादों को प्रोत्साहित किया जाए। इन मेलों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की सहभागिता होगी। अधिकाधिक जनता को मेले से जोडऩे का प्रयास हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डेंगू, कॉलरा, डायरिया मलेरिया सहित वायरल से प्रभावित जनपदों में विशेष सतर्कता बरती जाए। एटा, मैनपुरी और कासगंज में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम पहुंच गई है, विशेषज्ञों की यह टीम स्थानीय चिकित्सकों का मार्गदर्शन करेगी। अस्वस्थ लोगों के उपचार के लिए सभी अस्पतालों में प्रबंध किए गए हैं। सर्विलांस को बेहतर करते हुए हर एक मरीज के स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जाए। बचाव के लिए व्यापक स्वच्छता, सैनिटाइजेशन और फॉगिंग का कार्य सतत जारी रखें। सभी जगह पर निगरानी समितियों को एक्टिव करने की जरूरत है।

किसानों की क्षतिपूर्ति के लिए प्राथमिकता पर हो सर्वे

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि 17 से 19 अक्टूबर के बीच प्रदेश के कई जिलों में भारी वर्षा हुई है। कृषि फसलों पर इसका बुरा असर पड़ा है। अतिवृष्टि से प्रभावित किसानों की क्षतिपूर्ति के लिए सर्वे का काम जल्द पूरा किया जाए। प्रभारी मंत्री अपने जनपदों की स्थिति का स्थलीय निरीक्षण कर प्रभावित किसानों से संवाद करें।

Previous articleकोरोना की वैक्सीन बनाने वाली कंपनी के निर्माताओं से प्रधानमंत्री ने की मुलाकात, भविष्य की जरूरतों पर हुई चर्चा
Next articleआइसीसी टी20 विश्व कप : आस्ट्रेलिया का शानदार आगाज, साउथ अफ्रीका को 5 विकेट से हराया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here