घमासी सियासत छोड़ क्या राज्य सरकार लम्पी वायरस को करेगी राष्ट्रीय आपदा घोषित ?

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

स्वदेश डेस्क (विशाखा धारे) –  लम्पी वायरस का कहर दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा हैं । कईं राज्यों में हालात बिगड़ रहे हैं । तो वही इसी बीच राजस्थान में लम्पी की समस्या गम्भीर है। वैसे तो देश के 15 राज्य पशुओं में लम्पी रोग से प्रभावित हैं, लेकिन ज्यादातर राज्यों में हालात कंट्रोल में है और इसमें कमी आई है। देश भर में 18.50 लाख गौवंश देश में लम्पी से पीड़ित हैं, दुर्भाग्य से इनमें से 12.50 लाख राजस्थान में हैं। जिस पर केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री डॉ. संजीव बालियान ने कहा हैं कि हम मदद के लिए तैयार हैं। ये लड़ाई का वक्त बिल्कुल नहीं है। हम चाहते हैं कि वैक्सीनेशन ड्राइव हो। सब काम रोककर पूरे प्रदेश में वैक्सीनेशन किया जाना चाहिए। आइसोलेशन सेंटर बनाए जाने चाहिए। इसके लिए जरूरत के मुताबिक धन और वैक्सीन केंद्र सरकार उपलब्ध कराने को तैयार है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की जिम्मेदारी वैक्सीन सप्लाई करने की है। अभी भी राजस्थान में 30 लाख डोज पड़ी है, राजस्थान में मात्र 12 लाख वैक्सीन लगी है।

ये भी पढ़ें:  प्रधानमंत्री मोदी करेंगे 1 अक्टुबर को देश में 5जी सर्विस लॉन्च
Sanjeev Balyan की ताज़ा खबरे हिन्दी में | ब्रेकिंग और लेटेस्ट न्यूज़ in  Hindi - Zee News Hindi

वहीं इसी दौरान केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री बुधवार को जयपुर दौरे पर पहुंचे जहां उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार लम्पी स्किन रोग को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने के लिए तैयार है, लेकिन पहले राज्य सरकार खुद इसे घोषित करें और हमें भेजें। बालियान ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहे हैं और उनका लंबा राजनीतिक अनुभव है। क्या उन्हें नहीं पता है कि राज्य के अपने संसाधन होते हैं, जिसमें एसडीआरएफ का फंड होता है और उसके बाद एनडीआरएफ का नंबर आता है। गोवंश के लिए यह समय वाकई संकट का है, इसलिए इस पर राजनीति छोड़ सब को अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News