Home देश मौसम बिगड़ा: पांच ट्रैकर्स सहित 14 लोग फंसे, दो ट्रैकर्स की मौत

मौसम बिगड़ा: पांच ट्रैकर्स सहित 14 लोग फंसे, दो ट्रैकर्स की मौत

29
0

काजा। हिमाचल प्रदेश के जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के पिन वैली के खमिंगर ग्लेशियर में आक्सीजन की कमी की वजह से दो ट्रैकर की मौत हो गई, 14 अन्य लोग फंस गए हैं। लाहुल-स्पीति प्रशासन ने राहत एवं बचाव कार्य के लिए 32 सदस्यीय रेस्क्यू दल गठित कर उसे खमिंगर ग्लेशियर के लिए रवाना कर दिया है। भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) व सेना से मदद मांगी गई है। फंसे लोगों को हेलीकाप्‍टर से एयरलिफ्ट करने के सेना के उच्च अधिकारियों से संपर्क किया जा रहा है।

रेस्क्यू दल में आइटीबीपी के 16 जवान, छह डोगरा स्काउट के जवान व चिकित्सक तथा 10 मजदूर शामिल हैं। भारतीय पर्वतारोहण फांउडेशन बंगाल का छह सदस्यीय ट्रैकिंग दल 15 सितंबर को लाहुल के बातल से काजा वाया खमींगर ग्लेशियर ट्रैक को पार करने के लिए रवाना हुआ था। इस दल के साथ एक गाइड व 10 मजदूर (पोटर) भी शामिल थे। तीन ट्रेकर, एक शेरपा यानी स्थानीय गाइड और पोटर 5034 मीटर की ऊंचाई पर स्थित खंमीगर ग्लेशियर में फंसे हुए हैं।

रेस्क्यू दल को खमींगर पहुंचने में कम से कम तीन दिन का समय लगेगा। ग्लेशियर तक हेलीकॉप्टर के माध्यम से पहुंचाना भी संभव नहीं है, इसे देखते हुए फंसे लोगों को ऐसे स्थान तक लाने के प्रयास होंगे जहां से उन्हें एयरलिफ्ट करना संभव होगा।

राहत एवं बचाव कार्य पिन घाटी के काह गांव से शुरू होगा। मंगलवार शाम तक रेस्क्यू दल काह से चंकथांगो पहुंचेगा। बुधवार को चंकथांगो से धार थांगो और वीरवार को धारथांगो से खमिंगर ग्लेशियर पहुंचेगा। वहां से वापस काह गांव तक वापस आने में इतना ही समय लगेगा।

मरने वाले ट्रेकर की पहचान भास्कर देव मुखोपाध्याय (61)सनराइज अपार्टमेंट 87डी आंनदपुर बैरकपुर (कोलकाता) व संदीप कुमार ठाकुरता (50) थ्री राइफल रेंज रोड, प्लाट नंबर जेड, पूव्यान अवासन बेलगाेरिया (बंगाल) के रूप में हुई है। फंसे ट्रैकर में देवाशीष बर्धन (58) मिलन पार्क गारिया, रणाधीर राय (63) पुत्र रामकृष्ण पाली, कोगाच्छी श्यामनगर, तपस कुमार दास (50) सेंट 78 क्यूआरएस 28-3 चितरंजन बरधवान व अतुल ( 42) कोलकाता शामिल हैं।

लाहुल स्‍पीति के उपायुक्त नीरज कुमार ने कहा कि खमिंगर ग्लेशियर के लिए 16 सदस्यीय दल रवाना हुआ था। इसमें छह ट्रैकर थे। ग्लेशियर में फंसने से दो ट्रैकर की मौत हो गई है, अन्य को रेस्क्यू करने के लिए 32 सदस्यीय दल गठित किया गया है। ट्रैकिंग दल के फंसे होने की सूचना सोमवार सुबह ही स्पीति उपमंडल प्रशासन के माध्यम से मिली थी।

Previous articleराकेश टिकैत का दावा- सफल रहा भारत बंद, आगे की रणनीति बनाएगा संयुक्त किसान मोर्चा
Next articleमुंबई के खिलाफ मिली दमदार जीत के बाद कोहली ने की हर्षल और चहल की तारीफ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here