भूस्खलन के कारण गंगोत्री हाइवे 15 घंटे से बंद, लगा 5 किमी लंबा जाम, हजारों यात्री फंसे

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp
  • उत्तरकाशी में लगातार भूस्खलन के कारण हाइवे बंद
  • हाइवे पर लगा 5 किलोमीटर लंबा जाम
  • काम मे जुटी बीआरओ की टीम
    उत्तरकाशी:
    उत्तराखंड के उत्तरकाशी में हेलगुगाड के पास गंगोत्री हाइवे पिछले 15 घण्टे से बन्द है. हालात ये हैं कि लगातार पहाड़ी से पत्थर गिरने के चलते बीआरओ को कार्य करने में भारी दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा है. मार्ग में हजारों की संख्या में यात्री फंसे हुए हैं. यात्रियों को कल यानी बुधवार की शाम से भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. यात्रियों को यहां खाने-पीने की भी भारी समस्या हो रही है. जाम में कई बच्चे और महिलाएं भी फंसे हुए हैं. उत्तरकाशी जनपद में बारिश के चलते हेलगुगाड के पास पिछले कुछ दिनों से लगातार भूस्खलन के कारण यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. 15 घण्टे से मार्ग बंद होने के चलते गंगोत्री हाइवे पर लगभग 5 किलोमीटर लंबा जाम लगा हुआ है. बीआरओ के अधिकारी खुद मौके पर डटे हुए हैं. अधिकारी हालात पर नजर बनाए हुए हैं. मौके पर पहुंची BRO की टीम काम मे जुट गई है. हाइवे में पड़े पत्थरों को जेसीबी के से हटाया जा रहा है. बीआरओ के अधिकारी यात्रियों से संयम रखने की अपील कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ बन्द हुए यमनोत्री हाइवे को लोक निर्माण विभाग द्वारा खोल दिया गया है.
    आवासीय मकान में दबने से महिला की मौत
    आपको बता दें कि उत्तरकाशी में भारी बारिश हो रही है. बारिश की वजह से चिन्यालीसौड़ के कुमराडा गांव में एक आवासीय मकान क्षतिग्रस्त हो गया. आवासीय मकान के मलबे में दबने से एक महिला की मौत हो गई. बीते बुधवार को चिन्यालीसौड़ क्षेत्र में भारी बारिश के कारण कुमराड़ा गांव के मुंडरा नामे तोक में पत्थर से बना एक मंजिला मकान भी क्षतिग्रस्त हो गया. आवासीय मकान के मलबे में दबने से गांव की भट्टू देवी (60 साल) पत्नी जुरूलाल की मौत हो गई. आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि मलबे में दबने से एक महिला की मौत हुई है. महिला के शव को मलबे से निकाला जा रहा है. महिला के परिजनों को सरकारी मानकों के अनुसार मुआवजा दिया जाएगा.

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News