Home देश उलटबांसीः सऊदी अरब में खुलेंगे सिनेमाघर, भारत के मुसलमान उतरेंगे विरोध में

उलटबांसीः सऊदी अरब में खुलेंगे सिनेमाघर, भारत के मुसलमान उतरेंगे विरोध में

21
0

नई दिल्ली। एक तरफ तालिबान अफगानिस्तान में कला-संगीत को गैर इस्लामी घोषित कर कला के केन्द्रों को बंद करवा रहे हैं तो दूसरी तरफ दुनिया भर के मुसलमानों का रहनुमा कहलाने वाला सऊदी अरब मदीना में दस सिनेमाघर खोलने जा रहा है। विडंबना यह है कि भारत के कुछ मुसलमान सऊदी अरब की सरकार के फैसले के खिलाफ सड़कों पर उतर रहे हैं।

मुंबई की रजा अकादमी ने इसे लेकर प्रदर्शन ही नहीं किया, 23 सितंबर को बड़ा जलसा करने का ऐलान किया है और ट्वीटर पर सऊदी अरब के खिलाफ मुहिम चला रखी है। सोश्यल मीडिया पर इस मुहिम में जहां लोगों से विरोध करने की अपील की जा रही है, वहीं कुछ लोग इसे लेकर रजाकारों की खबर भी ले रहे हैं। लोग पूछ रहे हैं कि सऊदी अरब में जो कुछ हो रहा है, उससे यहां के मुसलमानों को क्यों दिक्कत हो रही है। यह सऊदी अरब का मामला है।

इस देश में पिछले दिनों महिलाओं के अधिकारों को बहाल करने की दिशा में कई कदम उठाए गए हैं। पहली बार वहां महिलाएं अकेले ड्राइविंग कर सकती हैं। जबकि तालिबानों ने अफगानिस्तान में महिलाओं को कार्यस्थलों पर जाने और अकेले सार्वजनिक जगहों पर घूमने पर पाबंदी लगा दी है। कला संगीत को भी प्रतिबंधित किया जा रहा है। तालिबान के खिलाफ भारत के मुस्लिम प्रदर्शन नहीं करते।

एक पाठक ने पूछा कि क्या वे इस्लाम के नाम पर समाज को पीछे धकेलना चाहते हैं। एक व्यक्ति ने पूछा कि क्या ये लोग भारत में फिल्में नहीं देखते और क्या शाहरूख, आमिरखान और सलमान खान को फिल्मों में काम करने से कोई रोकता है। रजा अकादमी के मोहम्मद सईद नूरी सुन्नी नेता हैं। उनके ट्वीटर पर लोग सऊदी अरब के शासकों को पवित्र शहर में सिनेमाघर खोलने पर आड़े हाथों ले रहे हैं।

Previous articleदुकानों के विस्थापन में देरी, हबीबगंज पर फ्लाईओवर के खंभों का निर्माण थमा
Next articleपंजाब में कांग्रेस का आत्मघाती फैसला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here