Home » स्लश फंड की जांच के लिए एसआईए ने की आठ अलग-अलग जगहों पर छापेमारी

स्लश फंड की जांच के लिए एसआईए ने की आठ अलग-अलग जगहों पर छापेमारी

  • कुलगाम अनंतनाग और शोपियां में आतंकियों व अलगाववादियों से जुड़े करीब आठ लोगों के ठिकाने पर छापेमारी की ।
    जम्मू ।
    जम्मू-कश्मीर राज्य जांच एजेंसी (एसआईए) ने दक्षिण कश्मीर के जाने-माने अलगाववादी मौलवी सरजन बरकती से जुड़े ठिकानों पर शनिवार को आठ अलग-अलग स्थानों पर तलाशी अभियान शुरू किया। ये तलाशी अभियान जम्मू-कश्मीर में आतंकी साजिश और अवैध क्राउडफंडिंग की जांच के लिए की गई। सरकारी सूत्रों के अनुसार, 1.5 करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि क्राउडफंडिंग और संदिग्ध आतंकी स्रोतों से व्यक्तिगत लाभ, मुनाफाखोरी और अलगाववादी-आतंकवादी अभियानों को आगे बढ़ाने के लिए की गई थी। जानकारी मिलने के बाद आज एसआईए ने कार्रवाई की। जम्मू-कश्मीर में लगातार आतंकियों के ठिकानों और मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया जा रहा है। इसी कड़ी में आज शनिवार को प्रदेश की जांच एजेंसी एसआईए ने श्रीनगर के अलावा दक्षिण कश्मीर के कुलगाम ,अनंतनाग और शोपियां में आतंकियों व अलगाववादियों से जुड़े करीब आठ लोगों के ठिकाने पर छापेमारी शुरू की है। यह कार्रवाई आतंकी फंडिंग, हथियारों की तस्करी और टारगेट किलिंग से संबंधित पहले से दर्ज एक मामले के सिलसिले में की गई है। जांच एजेंसी एसआईए ने आठ ठिकानों को खंगाला और आतंकी साजिश या किसी भी संदिग्ध गतिविधि की जांच की।
    सरजन बरकती के घर छापेमारी
    दक्षिण कश्मीर के मौलवी सरजन बरकती के बारे में जानकारी देते हुए, सरकारी सूत्रों ने कहा, “सरजन बरकती को 2016 के हिंसक आंदोलन के दौरान सड़कों पर हजारों लोगों को अपने भड़काऊ भाषण के लिए जाना जाता है। राष्ट्र विरोधी हिंसक रैलियों को बरकती आयोजित करता था। दक्षिण कश्मीर में जिला शोपियां में जेनपोरा का रहने वाला सरजन बरकती प्रतिबंधित जमाते इस्लामी का एक अहम सदस्य है। वह कट्टरपंथी हुर्रियत कांफ्रेंस से जुड़ा हुआ था। वर्ष 2016 में आतंकी बुरहान की मौत के बाद दक्षिण कश्मीर में विशेषकर शोपियां, कुलगाम और पुलवामा के विभिन्न हिस्सों में राष्ट्र विरोधी हिंसक रैलियों और पत्थरबाजी में उसने अहम भूमिका निभाई थी। उसे आजादी चाचा कहा जाता था। उसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी।
    चितकबरा पाइपर के रुप में है विख्यात
    अधिकारियों ने बताया कि “चितकबरा पाइपर के रूप में जाना जाता है, सरजन बरकती खुले तौर पर युवाओं को हिंसा करने के लिए उकसाता था।
    पुलवामा में मुठभेड़
    इससे पहले, पुलवामा के मित्रीगाम इलाके में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई थी। कश्मीर पुलिस ने जानकारी दी कि पुलिस और सुरक्षा बल मौके पर मौजूद पर हैं। ट्विटर के जरिए जम्मू कश्मीर पुलिस ने जानकारी दी कि पुलवामा के मीत्रीगाम इलाके में मुठभेड़ शुरू हो गई है।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd