Home देश ऑनलाइन सुनवाई में जूही चावला को देख हाईकोर्ट में गाया घूंघट की...

ऑनलाइन सुनवाई में जूही चावला को देख हाईकोर्ट में गाया घूंघट की आड़ से दिलबर का… गाना

11
0

नई दिल्ली। बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री जूही चावला ने देशभर में 5जी वायरलेस नेटवर्क स्थापित किए जाने के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है। इस मामले में आज यानी बुधवार को ऑनलाइन सुनवाई भी हुई। हालांकि इसे तीन बार बाधित करना पड़ा। इस सुनवाई में अभिनेत्री और पर्यावरणविद जूही चावला भी शामिल हुईं। जैसे ही वह शामिल हुईं, किसी ने 1993 की फिल्म ‘हम हैं राही प्यार के’ का एक लोकप्रिय गीत, ‘घूंघट की आड़ से दिलबर का…’ गुनगुनाना शुरू कर दिया।

न्यायमूर्ति जे.आर मिधा ने कहा, “कृपया इसे म्यूट करें”, जबकि जूही चावला की ओर से पेश वकील दीपक खोसला ने कहा, “मुझे आशा है कि इसे किसी प्रतिवादी द्वारा हटाया नहीं जाएगा।” अदालत वादी द्वारा जमा की जाने वाली अदालती फीस के मुद्दे पर सुनवाई कर रही थी, जबकि किसी अन्य बॉलीवुड गीत को गाकर इसे फिर से बाधित किया गया था।

सुनवाई के दौरान एक अन्य प्रतिभागी ने फिर से उनकी फिल्म का गाना गाय। इस बार ‘लाल लाल होठों पे गोरी किसका नाम है…’ है की आवाज कोर्ट रूम में गूंजी। हालांकि इसे सुनवाई से हटा दिया गया। गाने का सिलसिला यहीं तक नहीं रुका। आगे किसी ने ‘मेरी बन्नो की आएगी बारात…’ की बोल गाया। इसके बाद जज ने व्यक्ति की पहचान कर अवमानना ​​​​नोटिस जारी करने का आदेश दिया। अदालत ने दिल्ली उच्च न्यायालय के आईटी विभाग को उस व्यक्ति की पहचान करने और आवश्यक कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस को इसकी जानकारी देने को भी कहा।

इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने अभिनेत्री जूही चावला से बुधवार को कहा कि वह देश में 5जी वायरलेस नेटवर्क स्थापित करने के खिलाफ दायर अपनी याचिका पर एक संक्षिप्त नोट दाखिल करें। चावला ने देश में 5जी वायरलेस नेटवर्क स्थापित करने के खिलाफ सोमवार को उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी। उन्होंने अपनी याचिका में नागरिकों, जानवरों, वनस्पतियों और जीवों पर इस प्रौद्योगिकी के विकिरण के प्रभाव संबंधी मुद्दों को उठाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here