Home देश हरिद्वार कुंभ में उद्धव ठाकरे के खिलाफ आंदोलन का प्रस्ताव लाएंगे संत

हरिद्वार कुंभ में उद्धव ठाकरे के खिलाफ आंदोलन का प्रस्ताव लाएंगे संत

61
0
  • निरंजनी अखाड़ा के प्रमुख संत आनंद गिरी ने कहा


मुंबई। सचिन वझे कांड और परमबीर सिंह के पत्र की मार झेल रही महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ अब साधु-संत समाज भी मुखर होकर सामने आया है। निरंजनी अखाड़ा के प्रमुख संत, बाघंबरी पीठ प्रयागराज के उत्तराधिकारी योग गुरु श्री स्वामी आनंद गिरि जी महाराज ने कहा है कि ठाकरे सरकार पालघर जिले में हुई साधुओं की निर्मम हत्या के मामले में न्याय दिलाने में नाकाम साबित हुई है। 14 अप्रैल को हरिद्वार में शाही स्नान है। इसमें जुटने वाले साधु-संतों के बीच ठाकरे सरकार के खिलाफ आंदोलन का प्रस्ताव लाया जाएगा। 2 दिन के मुंबई दौरे पर आए स्वामी आनंद गिरि जी महाराज ने चेतावनी दी है कि यदि ठाकरे सरकार के खिलाफ आंदोलन का प्रस्ताव पास होता है, तो मुंबई की सड़कों पर साधु-संत आंदोलन करेंगे।

साधुओं की हत्या के आरोपियों को जमानत मिलना सरकार की नाकामी

उन्होंने पालघर में साधुओं की हत्या के अभियुक्तों पर 120 बी, 427, 147, 302,148 और 149 जैसी गंभीर धाराएं होने के बावजूद जमानत मिलने को ठाकरे सरकार की विफलता बताया है। उन्होंने इस मामले की जांच ष्टक्चढ्ढ को सौंपने या फिर स्ढ्ढञ्ज गठित करने की मांग की है।

अनुमति न मिलने से मालवणी नहीं जा पाए

स्वामी आनंद गिरि ने पालघर की घटना को लेकर मुख्यमंत्री ठाकरे से नाराजगी जताई है। उन्होंने मुंबई में रहने के बावजूद मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए समय नहीं मांगा है। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री असलम शेख के विधानसभा क्षेत्र के मालवणी इलाके से लगातार हिंदुओं के पलायन की जानकारी सामने आ रही है। वे मालवणी जाकर हिंदुओं के पलायन की वजह जानने की कोशिश करने वाले थे। उन्हें सोमवार को यहां जाना था, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण अनुमति नहीं मिली। इस कारण उनका यह कार्यक्रम रद्द हो गया है।

Previous articleभारत-पाक के बीच सिंधु जल बंटवारे पर कल से होगी अहम बैठक, पुलवामा कांड के बाद बंद थी वार्ता
Next articleदो दिन पहले जहां शिकार किया, वहीं पिंजरे में कैद हुई मादा तेंदुआ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here