Home » केदारनाथ-बदरीनाथ सहित उत्तराखंड चार धाम यात्रा रूट पर बारिश-बर्फबारी से बढ़ी मुश्किलें

केदारनाथ-बदरीनाथ सहित उत्तराखंड चार धाम यात्रा रूट पर बारिश-बर्फबारी से बढ़ी मुश्किलें

  • उत्तराखंड में 19 अप्रैल से अगले तीन दिनों तक कई जिलों में बारिश, ओलावृष्टि के साथ अंधड़ की चेतावनी जारी की गई है।
    केदारनाथ ।
    उत्तराखंड चार धाम यात्रा शुरू होने से महज दो दिन पहले एक बार टेंशन बढ़ने लगी है। केदारनाथ-बदरीनाथ, गंगोत्री सहित चार धाम यात्रा रूट पर वाले जिलों में मौसम ने फिर से यूटर्न लिया है। आसमान में बादल छाए होने पर बारिश के बाद बर्फबारी की भी संभावना जताई जा रही है। तपती गर्मी के बीच एक ओर जहां उत्तराखंड में लोगों को बारिश से राहत मिली है, तो दूसरी ओर यात्रा रूट पर खराब मौसम से तीर्थ यात्रियों की मुश्किलें भी बढ़ सकती हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान की बात मानें तो उत्तराखंड में 19 अप्रैल से अगले तीन दिनों तक कई जिलों में बारिश, ओलावृष्टि के साथ अंधड़ की चेतावनी जारी की गई है। आपको बता दें कि गंगोत्री, और यमुनोत्री धामों के कपाट 22 अप्रैल को खुल रहे हैं। जबकि, केदारनाथ धाम के कपाट 25 अप्रैल, और बदरीनाथ धाम के कपाट 27 अप्रैल को खुल रहे हैं। चार धाम यात्रा शुरू होने से पहले ही तीर्थ यात्री उत्तराखंड पहुंचने लगे हैं। मौसम विभाग पूर्वानुमान की बात मानें तो उत्तराखंड में 19, 20 और 21 अप्रैल के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के निदेशक डॉ बिक्रम सिंह के मुताबिक उत्तरकाशी जिले में स्थित गंगोत्री, और यमुनोत्री धाम, चमोली जिले में स्थित बदरीनाथ धाम , और रुद्रप्रयाग जिले में स्थित केदारनाथ धाम में कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली, बारिश और ओलावृष्टि की संभावना है। बागेश्वर, पिथौरागढ़ जनपद व गढ़वाल मंडल के सभी जनपदों में बारिश और ओलावृष्टि का पूर्वानुमान भी है। उत्तरकाशी, देहरादून, पौड़ी, हरिद्वार जिलों में कहीं-कहीं पर 70 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती है। मौसम विभाग की ओर से सभी जिलों को अलर्ट जारी कर दिया गया है। किसानों को विशेष रूप से सतर्क रहने के लिए कहा है क्योंकि गेहूं समेत कई तरह की फसल इस समय तैयार है। ऐसे में बारिश से फसलों को नुकसान हो सकता है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के बाद जिला प्रशासन भी अलर्ट मोड पर आया गया है। सभी जिलों में एहतियात बरता जा रहा है।
    मसूरी, अल्मोड़ा, हल्द्वानी में चली तेज हवाएं, बारिश ने दिलाई गर्मी से राहत
    मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार बुधवार को मौसम बदल गया। मसूरी, रानीखेत, अल्मोड़ा, हल्द्वानी आदि शहरों में तेज हवाएं चलने लगी। इसके बाद आसमान में तेज गर्जन के साथ बारिश होने लगी। मौसम विभाग ने उत्तराखंड में तीन दिन ओलावृष्टि और अंधड़ की चेतावनी दी है। पर्यटन नगरी मसूरी में बुधवार को सुबह से ही मौसम का मिजाज बदला हुआ नजर आया। बारिश के साथ तेज हवाएं चलने से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। मौसम बदलने से ठंड का अहसास हुआ। मसूरी में लोग गर्म कपड़ों में नजर आए।
    चार धाम यात्रा रूट पर नेशनल हाईवे ठी नहीं
    चार धाम यात्रा शुरू होने में महज दो दिन का वक्त बाकी है, लेकिन शहर में नेशनल हाईवे से लेकर आंतरिक मार्गों की हालत अभी तक नहीं सुधरी है। अधिकारियों की लापरवाही के चलते तीर्थ यात्रियों को हिचकोले खाते हुए जोखिम भरा सफर करने को मजबूर होना पड़ेगा। चारधाम यात्रा ट्रांजिट एवं पंजीकरण केंद्र को बदरीनाथ नेशनल हाईवे से जोड़ने वाली सड़क पर लंबे वक्त से जगह-जगह बड़े-बड़े गड्ढ़े बने हुए हैं। साल 2021 में करीब 14 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति के बावजूद कोयलघाटी से घाट चौक तक हाईवे का चौड़ीकरण नहीं हो पाया है। हैरानी की बात यह है कि कमिश्नर से लेकर डीएम तक कई दफा ऋषिकेश में बैठक और दौरे कर चुके हैं। अब डीएम तीन दिन में सड़कें सुधारने का दावा कर रही हैं।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd