Home देश कैप्टन से मुलाकात के बाद हरीश रावत बोले- पार्टी का फैसला मान्य,...

कैप्टन से मुलाकात के बाद हरीश रावत बोले- पार्टी का फैसला मान्य, सिद्धू के नाम पर शाम तक मुहर

36
0

चंडीगढ़: पंजाब कांग्रेस में जारी खींचतान से बढ़ते तनाव के बीच प्रदेश प्रभारी हरीश रावत आज चंडीगढ़ पहुंचे. यहां हरीश रावत ने नाराज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से उनके आवास पर मुलाकात की. कैप्टन से मुलाकात के बाद हरीश रावत ने कहा अमरिंदर सिंह ने पहले जो एक महान बयान दिया था कि जो निर्णय कांग्रेस अध्यक्ष लेंगी वो उसको मानेंगे, आज उन्होंने अपने उस बयान को दोहराया है. सूत्रों से खबर मिली है कि पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के लिए सिद्धू के नाम पर शाम तक मुहर लग जाएगी. हरीश रावत ने कहा, ”कुछ उनके सवाल थे, जिनका निदान करने आया था. लेकिन एक बात दिन के उजाले की तरह साफ है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह जी ने पहले जो बयान दिया था कि कांग्रेस अध्यक्ष जो भी फैसला लेंगी, मेरे लिए सम्मानीय होगा. आज भी उन्होंने अपने उसी बयान को दोहराया है. इससे ज्यादा मैं कुछ नहीं कहूंगा क्योंकि जहां ना पहुंचे रवि, वहां पहुंचे रवि और पत्रकार.”
सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनाने पर अड़े थे अमरिंदर
इससे एक दिन पहले अमरिंदर सिंह ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से नवजोत सिंह सिद्धू को महत्वपूर्ण पद देने को लेकर आपत्ति जताई थी. अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी से पत्र लिखकर आग्रह भी किया था कि सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाने से आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत की संभावना पर प्रतिकूल प्रभाव होगा. उन्होंने यह पत्र ऐसे समय लिखा है जब ऐसी चर्चा है कि कांग्रेस आलाकमान सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष और कोई अन्य महत्वपूर्ण भूमिका दे सकता है. बता दें, पिछले कुछ महीनों से पंजाब कांग्रेस में खुलकर कलह देखने को मिल रही है. पूर्व मत्री नवजोत सिंह सिद्धू और कुछ अन्य नेताओं ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. पार्टी में कलह को दूर करने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति का गठन किया था. इस समिति ने मुख्यमंत्री समेत पंजाब कांग्रेस के 100 से अधिक नेताओं की राय ली और फिर अपनी रिपोर्ट आलाकमान को सौंपी. पिछले दिनों अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. सिद्धू भी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मिले थे.

Previous articleप्रधानमंत्री मोदी से मिले एनसीपी चीफ शरद पवार, करीब 1 घंटे तक चली मुलाकात, सियासी अटकलों का बाजार फिर गर्म
Next articleपीएम मोदी द्वारा अलग रक्षा नीति तैयार किए जाने के बाद कोई नहीं दे सकता भारत को चुनौती: अमित शाह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here