Home खास ख़बरें जम्मू के सिधरा-कुंजवानी बाय-पास रोड पर मिल रहे पाकिस्तानी रेडियो सिग्नल, अलर्ट...

जम्मू के सिधरा-कुंजवानी बाय-पास रोड पर मिल रहे पाकिस्तानी रेडियो सिग्नल, अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां

55
0

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान के साथ लगने वाली सीमा के समीप पाकिस्तानी टेलीकॉम ऑपरेटरों के सिग्नल मिलने से पहले से ही अलर्ट पर चल रही सुरक्षा एजेंसियों ने जम्मू के बाहरी इलाकों में अब रेडियो चैनल के सिग्नल मिलने के बाद सुरक्षा और कड़ी कर दी है। प्रदेश के सिधरा-कुंजवानी बाय-पास रोड पर कई लोगों के मोबाइल फोन,गाड़ियों के म्यूजिक और रेडियो सिस्टमों में पाकिस्तान के रेडियो चैनल भी सुनाई दिये तथा कई लोगों को पाकिस्तानी रेडियो चैनल के प्रोग्राम भी बड़ी आसानी से सुनाई दिए।
पाकिस्तानी प्रोग्राम सुनाई देने की ये हैं वजह
पाकिस्तानी रेडियो चैनल के सिग्नल इतने मजबूत हैं कि जम्मू के कई इलाकों में स्थानीय रेडियो सिग्नल ठीक से लोगों को सुनाई भी नहीं दे रहे। खुफिया सूत्रों ने बताया कि लोगों के रेडियो चैनल पर पाकिस्तानी प्रोग्राम सुनाई देने को कारण स्थानीय सेटेलाइट डिश कनेक्शन लगवाना है जो बेहद आसानी से स्थानीय बाजारों में खरीद के लिए उपलब्ध है। सूत्रों ने कहा, ‘सरकार ने इस तरह के सेटेलाइट डिश की बिक्री पर रोक लगा रही है लेकिन शहर के बाहरी इलाकों और विशेष कर सिधरा-कुंजवानी बाय-पास रोड पर इस तरह की सेटेलाइट डिश आसानी से मिल जाती है।’
कई योजनाओं को किया ध्वस्त
सूत्रों ने कहा कि जम्मू पुलिस ने पिछले दो महीनों में पाकिस्तान आधारित आतंकवादी संगठनों के कई आतंकवादियों को पकड़ कर उनकी कई योजनाओं को ध्वस्त किया है तथा आतंकवादियों के पास से बड़े पैमाने पर हथियार और असलहे भी बरामद किये हैं। गौरतलब है कि पाकिस्तान के सिआलकोट, लाहौर और इस्लामाबाद से प्रसारित होने वाले कई रेडियो प्रोग्राम समेत गाने, विज्ञापन और अन्य मनोरंजन कार्यक्रम कई जगहों पर आसानी से सुने जाते हैं।
इसलिए हो रहा रेडियो सिग्नल का इस्तेमाल
सूत्रों ने कहा, ‘सबसे बड़ी चिंताओं में से एक यह है कि जहां पर पाकिस्तानी रेडियो के सिगनल प्राप्त किये जाते हैं और उनमें से कई जगहों पर सैन्य शिविर, पुलिस थाने और और पुलिस प्रशिक्षण अकादमियां हैं तथा सिधरा-कुंजवानी बाय पास रोड पर भी कई अहम ठिकाने हैं। इस आशंका को भी गलत नहीं ठहराया जा सकता कि देशविरोधी और असामाजिक तत्व बेहद आसानी से इन रेडियो चैनल्स के सिग्नल का गलत इस्तेमाल कर अहम जानकारी निकाल सकते हैं।’ उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विस इंटेलिजेंस (आईएसआई) खालिस्तानी आतंकवादियों के साथ मिलकर नयी दिल्ली, पंजाब और जम्मू-कश्मीर समेत कई शहरों में बड़े हमले करने की योजना बना रही है।

Previous articleअमित शाह रविवार को तमिलनाडु, पुडुचेरी में जनसभाओं को करेंगे संबोधित
Next articleवेट लॉस सुपरफूड्स हैं ये 7 चीजें, ब्रेकफास्ट में खाने से 15-20 दिनों में दिखने लगेगा असर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here