भारत के खिलाफ पाकिस्तान की बड़ी साजिश? ड्रग्स, हथियार भेजने के लिए आईएसआईने बनाए ड्रोन सेंटर्स

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

बीएसएफ भी अलर्ट मोड पर है। फोर्स पंजाब सीमा पर खास और संवेदनशील जगहों पर एंटी-ड्रोन सिस्टम लगा रही है। रिपोर्ट के अनुसार,यूएवी को खत्म करने के लिए ‘ड्रोन हंटिंग टीम’ भी तैनात की गई हैं।
नई दिल्ली,
पाकिस्तान अब भारत में हथियारों और ड्रग्स की आवाजाही तेज करता नजर आ रहा है। खबर है कि पाकिस्तान खुफिया एजेंसी ने भारत में नशे और हथियारों की तस्करी बढ़ाने के लिए ड्रोन सेंटर तैयार कर रहा है। आंकड़े बताते हैं कि सीमा सुरक्षा बल ने कथित तौर पर बीते तीन सालों में पंजाब की सीमा पर 1150 किलो ड्रग्स जब्त की है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट में खुफिया सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि पाकिस्तान की इंटर सर्विस इंटेलिजेंस भारत में हथियारों और ड्रग्स की तस्करी के लिए ड्रोन सेंटर तैयार कर रही है। इतना ही नहीं एजेंसी ने पाकिस्तान रेंजर्स के साथ मिलकर अब तक 6 केंद्र भी तैयार कर लिए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, पंजाब में अंतरराष्ट्रीय सीमा के दूसरी तरह ISI ने ड्रोन केंद्रों पर तस्करों और आतंकियों की मदद से काम शुरू कर दिया है। रिपोर्ट के अनुसार, BSF सूत्रों ने बताया कि उन्हें खुफिया जानकारी मिली है फिरोज और अमृतसर में IB पर पाकिस्तान सीमा चौकियों के पास ड्रोन से जुड़ी गतिविधियों में इजाफा हुआ है। सूत्रों ने कहा, ‘पाकिस्तान हथियारों, ड्रग्स और विस्फोटकों के लिए डमी ड्रोन्स का इस्तेमाल कर रहा है। खेमकरां के पास तस्कर पाक रेंजर्स की मदद से ड्रोन उड़ा रहे हैं।’ रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकवादी और तस्कर भारतीय सुरक्षा बलों को चकमा देने और पंजाब जैसे सीमावर्ती राज्यों में प्रतिबंधित पदार्थों को पहुंचाने के लिए इन डमी ड्रोन्स में विस्फोटक और हथियर लोड कर रहे हैं। इस जोखिम के मद्देनजर बीएसएफ भी अलर्ट मोड पर है। फोर्स पंजाब सीमा पर खास और संवेदनशील जगहों पर एंटी-ड्रोन सिस्टम लगा रही है। रिपोर्ट के अनुसार, यूएवी को खत्म करने के लिए ‘ड्रोन हंटिंग टीम’ भी तैनात की गई हैं।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News