Home देश दिल्ली में सामान्य से 12 दिन पहले 15 जून को दस्तक दे...

दिल्ली में सामान्य से 12 दिन पहले 15 जून को दस्तक दे सकता है मॉनसून

37
0

नई दिल्ली, राजधानी दिल्ली में इस साल मॉनसून सामान्य तिथि से 12 दिन पहले यानी 15 जून को दस्तक दे सकता है। यह जानकारी भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को दी। आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि इससे पहले वर्ष 2008 में भी मॉनसून 15 जून को दिल्ली पहुंचा था। उन्होंने कहा कि मॉनसून के समय से पहले आने की अनुकूल परिस्थितियां बनी हुई हैं। इस बार यह (मॉनसून) 15 जून को दिल्ली पहुंच सकता है। आईएमडी ने बताया कि उत्तर-पश्चिमर बंगाल की खाड़ी पर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसके अगले तीन से चार दिन में ओडिशा, झारखंड और उत्तर छत्तीसगढ़ की ओर बढ़ने की संभावना है। आईएमडी ने कहा कि अनुकूल मौसमी परिस्थितियों की वजह से दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून के अगले पांच से छह दिन के दौरान दक्षिण राजस्थान और गुजरात के कच्छ क्षेत्र को छोड़कर पूरे देश में छा जाने की उम्मीद है। श्रीवास्तव ने कहा कि किसी इलाके में मॉनसून के आने की घोषणा करने के लिए मोटे तौर पर तीन तथ्यों पर विचार किया जाता है जिसमें पहला विस्तृत क्षेत्र में बारिश, दूसरा अगले तीन -चार दिन बारिश की संभावना और तीसरा, पूर्वी हवाएं। निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर के महेश पलावत के मुताबिक, वर्ष 2013 में मॉनूसन 16 जून तक देश के सभी हिस्सों तक पहुंच गया था। पिछले साल 29 जून तक पूरे देश में मॉनसून पहुंच गया था।
दिल्ली में कई डिग्री चढ़ा पारा
दिल्ली में शनिवार को पारा कई डिग्री अधिक चढ़ने से न्यूनतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि एक दिन पहले ही यहां 13 वर्षों में जून माह में सबसे कम न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया था। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 20.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था जो मौसम के औसत तापमान से आठ डिग्री सेल्सियस कम था। वहीं अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मौसम के औसत से एक डिग्री सेल्सियस कम था। मौसम विभाग ने बताया कि शनिवार को न्यूनतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि सुबह हवा में नमी का स्तर 67 प्रतिशत था। मौसम वैज्ञानिकों ने शनिवार को पुरवाई हवाएं चलने का अनुमान व्यक्त किया है। अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहने का अनुमान है।

Previous articleवैक्सीन की दो डोज के बीच अधिक गैप बढ़ा सकता है संक्रमण का खतरा, टॉप वैज्ञानिक फाउची का दावा
Next articleआकांक्षी जिला कार्यक्रम: पीएम मोदी बोले- इस योजना का मकसद समावेशी और समग्र विकास सुनिश्चित करना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here