Home खास ख़बरें भारत ने इजरायल के खिलाफ हमास के रॉकेट हमले का किया विरोध

भारत ने इजरायल के खिलाफ हमास के रॉकेट हमले का किया विरोध

129
0

नई दिल्ली। मध्य-पूर्व की स्थिति पर एक बयान में भारत ने हमास के द्वारा इजरायल के नागरिकों को नुकसान पहुंचाने के लक्ष्य से “अंधाधुंध रॉकेट फायरिंग” का विरोध किया है। साथ ही दोनों देशों के बाच बातचीत के जरिए संकट के सुलझाने की बात कही है। संयुक्त राष्ट्र के स्थायी प्रतिनिधि द्वारा 16 मई को जारी किए गए भारतीय बयान में हमास की कार्रवाई के लिए इजरायल द्वारा “जवाबी हमले” शब्द का इस्तेमाल किया गया है। शब्दों को सावधानी से डाला गया है क्योंकि भारत खुद पाकिस्तान से निकलने वाले सीमा पार आतंकवाद का शिकार रहा है। तथ्य यह है कि भारत ने केरल से अपने एक नागरिक सौम्या संतोष को खो दिया है जो अंधाधुंध रॉकेट फायरिंग में मारी गई हैं। भारतीय बयान में कहा गया, “हम हिंसा, उकसावे और विनाश के सभी कृत्यों की कड़ी निंदा करते हैं।” भारत ने हमास की कार्रवाई का विरोध किया है। साथ ही इजरायल और फिलिस्तीनी अधिकारियों के बीच सीधी बातचीत की अपनी पारंपरिक लाइन पर कायम है। बयान में कहा गया है, ”हम दोनों पक्षों से अत्यधिक संयम दिखाने, तनाव बढ़ाने वाली कार्रवाइयों से दूर रहने और पूर्वी यरुशलम और उसके पड़ोस सहित मौजूदा यथास्थिति को एकतरफा रूप से बदलने के प्रयासों से बचने का आग्रह करते हैं।”बयान में भारतीय स्थिति को सावधानी से व्यक्त किया गया है क्योंकि नई दिल्ली के इजरायल और अरब दुनिया दोनों के साथ घनिष्ठ संबंध हैं और फिलिस्तीनी कारण का समर्थन करता है। गाजा से इजरायल के खिलाफ हमास की कार्रवाई ने इस मुद्दे को और जटिल कर दिया क्योंकि सुन्नी समूह के पीएलओ में कुछ समर्थक हैं, जिनके नेता महमूद अब्बास फिलिस्तीन और फिलिस्तीन राष्ट्रीय प्राधिकरण के अध्यक्ष हैं।
इजराइल ने गाजा सिटी पर फिर से भीषण हवाई हमले किये
इजराइली युद्धक विमानों ने सोमवार सुबह गाजा सिटी के कई स्थानों पर भीषण हवाई हमले किए। इसके कुछ ही घंटे पहले इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने गाजा पर काबिज चरमपंथी समूह हमास के खिलाफ चौथे युद्ध के जोर पकड़ने का संकेत दिया था। करीब 10 मिनट तक विस्फोटों से शहर का उत्तर से दक्षिण का इलाका थर्रा उठा। एक बड़े इलाके पर भीषण बमबारी हुई और यह 24 घंटे पहले हुए हवाई हमले से भी भीषण थी जिसमें 42 फलस्तीनियों की मौत हो गयी थी। इजराइल और हमास संगठन के बीच हिंसा की इस हालिया घटना से पहले इजराइल के हवाई हमले में तीन इमारतें ध्वस्त हो गयी थीं। स्थानीय मीडिया की खबरों में कहा गया है कि शहर के पश्चिम में मुख्य तटीय सड़क पर सुरक्षा परिसर और खुले स्थान सोमवार सुबह के हमले में निशाना बने। बिजली वितरण कंपनी ने बताया कि हवाई हमले में दक्षिणी गाजा सिटी के बड़े हिस्सों को बिजली पहुंचाने वाले एकमात्र संयंत्र से बिजली की एक लाइन क्षतिग्रस्त हो गयी। हालांकि हताहतों को लेकर तत्काल कोई सूचना नहीं है। रविवार को टेलीविजन पर प्रसारित संबोधन में नेतन्याहू ने कहा था कि इजराइल पूरे ”दम खम से हमला जारी रखे हुए है और यह कुछ समय तक जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि हमास को भारी कीमत चुकानी होगी।’ इस दौरान एकजुटता दिखाने के लिए रक्षा मंत्री और राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी बेन्नी बेन्नी गैंट्ज भी उनके साथ थे।

Previous articleसलमान खान के मैनेजर ने साइबर सेल में दर्ज कराई लिखित शिकायत, ‘राधे’ की पायरेसी करने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई
Next articleहाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल करना है तो नमक-सिगरेट से दूर रहें, दोनों हाथों के BP की रीडिंग में फर्क होने पर दिल की बीमारी का खतरा; इसलिए अलर्ट रहें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here