Home देश कोविड के बाद पटरी पर कैसे आए अर्थव्यवस्था? यूएई समकक्ष के साथ...

कोविड के बाद पटरी पर कैसे आए अर्थव्यवस्था? यूएई समकक्ष के साथ जयशंकर की चर्चा

7
0

नई दिल्ली, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अपने समकक्ष शेख अब्दुल्ला बिन जायेद अल नाहयान से एक बार फिर ”उपयोगी वार्ता की, जिसमें दोनों नेताओं ने कोविड-19 के बाद अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने पर मुख्य रूप से ध्यान केंद्रित करते हुए द्विपक्षीय संबंधों पर व्यापक चर्चा की। जयशंकर द्विपक्षीय आर्थिक सहयोग को बढ़ावा देने के लिए रविवार को यहां पहुंचे। वह क्षेत्र में, विशेषकर अफगानिस्तान में बदलते भू-राजनीतिक घटनाक्रम के बीच संयुक्त अरब अमीरात पहुंचे हैं। जयशंकर ने रविवार को ट्वीट किया, ” द्विपक्षीय सहयोग पर यूएई के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायेद अल नाहयान के साथ एक बार और उपयोगी वार्ता हुई। हमने फरवरी में इस विषय पर शुरू हुई वार्ता को आगे बढ़ाया। इस दौरान कोविड-19 के बाद आर्थिक विकास को पटरी पर लाने पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित किया गया। उन्होंने इसके साथ एक तस्वीर भी ट्वीट की, जिसमें वह बाहर बैठकर यूएई के विदेश मंत्री के साथ वार्ता करते दिख रहे हैं। यूएई की आधिकारिक ‘डब्ल्यूएएम संवाद समिति ने बताया कि दोनों नेताओं ने सभी क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत करने के उन तरीकों पर चर्चा की, जिनसे भारत और यूएई के नेतृत्व की आकांक्षाएं पूरी हो सकें और लोगों को लाभ पहुंच सके। शेख अब्दुल्ला ने दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक संबंधों पर जोर देते हुए कहा कि यूएई और भारत के बीच रणनीतिक साझेदारी वाणिज्यिक, आर्थिक, सांस्कृतिक एवं अन्य क्षेत्रों में विकास के लिए और अवसर पैदा करने में योगदान देती है। डब्ल्यूएएम ने बताया कि दोनों नेताओं ने कोविड-19 संबंधी हालिया घटनाक्रम, इससे निपटने के दोनों देशों के प्रयासों और सभी देशों को टीके मुहैया कराने के वैश्विक प्रयासों पर भी चर्चा की। उसने बताया कि शेख अब्दुल्ला ने महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए दोनों देशों के बीच सहयोग की भी प्रशंसा की। शेख अब्दुल्ला 26 फरवरी को नयी दिल्ली गए थे और उन्होंने जयशंकर से वार्ता की थी। इससे पहले जयशंकर कोविड-19 महामारी के बीच 25 और 26 नवंबर को दो दिन की यात्रा पर यूएई आए थे। इस बीच, दिलचस्प बात यह है कि जयशंकर की यात्रा के बीच पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी यूएई के दौरे पर हैं और यह ऐसे समय में हुआ है, जब यूएई भारत और पाकिस्तान के बीच संवाद फिर से कायम करने के लिए पर्दे के पीछे वार्ताएं संभव बनााने की कोशिश कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here