Home देश मेडिकल रिपोर्ट लेकर व्हीलचेयर पर कोर्ट में पेश हुआ मुख्तार अंसारी, उत्तर...

मेडिकल रिपोर्ट लेकर व्हीलचेयर पर कोर्ट में पेश हुआ मुख्तार अंसारी, उत्तर प्रदेश की जेल आने में अभी और लगेंगे 12 दिन!

43
0

लखनऊ/मोहाली। माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद उत्तर प्रदेश लाने की कवायद शुरू हो गई है। दरअसल बुधवार को पंजाब पुलिस की टीम मुख्तार अंसारी को यूपी नंबर की एक एम्बुलेंस में मोहाली कोर्ट लेकर पहुंची। यहां पंजाब पुलिस ने उसे पिछले गेट से उसे पेश किया। एंबुलेंस में मुख्तार अंसारी व्हीलचेयर पर दिखाई दिए।

कयास लगाए जाने लगे कि शायद यहीं कोर्ट से ही पेशी के बाद मुख्तार अंसारी को यूपी रवाना कर दिया जाएगा। इस दौरान पिछले गेट पर भारी पुलिस फोर्स तैनात रही है। बाद में अदालत ने अगली सुनवाई 12 अप्रैल तय कर दी। इसके बाद पता चला कि मुख्तार अंसारी को वापस रोपड़ जेल ले जाया जाएगा, इसके चलते मुख्तार को यूपी लाने की कवायद पर अभी 12 दिन के लिए रोक लग गई है।

बांदा जेल किया जाना है शिफ्ट

जानकारी के अनुसार यूपी के गृह विभाग ने मुख्तार अंसारी को यूपी लाए जाने के संबंध में पंजाब पुलिस से बात की है। उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बाद मुख्तार अंसारी को यूपी की बांदा जेल में शिफ्ट किया जाना है। इसके बाद एमपी/एमएलए कोर्ट तय करेगी कि मुख्तार को किस जेल में रखा जाए? इधर बांदा में जेल प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं।

नंबर वन माफिया को लाया जा रहा है वापस

उधर यूपी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि मुख्तार अंसारी जैसे माफिया को प्रियंका गांधी और उनके कैप्टन अमरिंदर की सरकार बचा रही थी। अब उन्हें यूपी लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कानून अपना काम करेगा। नंबर वन माफिया को वापस लाया जा रहा है, तैयारियां की जा रही हैं।

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि सरकार किसी भी अपराधी को छूट नहीं देगी। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में ही इन्हें पाला पोसा गया। इन्हें बड़ा बनाया गया, जो हमारे लिए सिरदर्द है। मुख्तार को कोर्ट में पेश किया गया है, यूपी लाया जाएगा। मुख्तार की सुरक्षा और स्वास्थ्य की जो बात है, उसे सरकार ध्यान देकर पूरा करेगी, लेकिन नंबर वन अपराधी को अब तक कांग्रेस और सपा बचा रही थी।

Previous articleकल से एलपीजी सिलेंडर की कीमतें होंगी कम
Next articleमुंबई में साइलेंट किलर बना कोरोना वायरस, 91 हजार में से 74 हजार मरीजों में कोई लक्षण नहीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here