Home खास ख़बरें कोयला घोटाले में फंसी ममता सरकार, सीबीआई-ईडी ने तृणमूल के करीबी बिजनेसमैन...

कोयला घोटाले में फंसी ममता सरकार, सीबीआई-ईडी ने तृणमूल के करीबी बिजनेसमैन के घर-दफ्तर समेत 15 जगहों पर छापे मारे

13
0

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में कोयला घोटाले की आंच अब व्यापारियों, अफसरों और तृणमूल नेताओं तक पहुंच गई है। सीबीआई और ईडी ने शुक्रवार को तृणमूल के करीबी बिजनेसमैन के ठिकानों पर छापे मारे। ये छापे साउथ कोलकाता, आसनसोल स्थित घर और दफ्तरों पर मारे गए हैं। एजेंसियों ने 15 जगहों पर छापा मारा है। जांच में सामने आया है कि कोयला तस्करी के दौरान कई अफसरों और नेताओं ने घूस भी ली थी। न्यूज एजेंसी ने बताया कि जल्द ही इनके यहां भी छापे मारे जा सकते हैं।
इसी केस में पिछले साल दिसंबर की शुरुआत में कोलकाता के CA गणेश बगारिया के दफ्तर में छापा मारा गया था। ये कार्रवाई सीबीआई की टीम ने की थी।
ममता की बहू और रिश्तेदारों से भी हो चुकी पूछताछ
इस मामले में दो दिन पहले ही सीबीआई ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की बहू रुजिरा बनर्जी और रुजिरा की बहन मेनका गंभीर से पूछताछ की है। दोनों से पैसों के लेनदेन और आय के स्रोतों के बारे में जानकारी हासिल की गई है। सूत्रों के मुताबिक, अब सीबीआई इन सभी के बैंक अकाउंट और संपत्तियों की जांच कर रही है। ईडी को भी जांच में शामिल किया गया है।
हजारों करोड़ का कोयला ब्लैक मार्केट में बेचने का आरोप
कोयला घोटाले में तृणमूल के नेताओं पर आरोप लगे हैं। इसमें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी का नाम भी शामिल है। आरोप है कि बंगाल में अवैध रूप से कई हजार करोड़ के कोयले का खनन किया गया। इसे एक रैकेट के जरिए ब्लैक मार्केट में बेचा गया।
सितंबर 2019 में शुरू हुई कोयला घोटाले की जांच
पिछले साल सितंबर में कोयला घोटाले की जांच शुरू हुई थी। तभी से भाजपा आरोप लगाती रही है कि तृणमूल नेताओं ने कोयला घोटाले से मिली ब्लैक मनी को शेल कंपनियों के जरिए व्हाइट मनी में बदला। इसमें सबसे ज्यादा फायदा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक को हुआ है।
अभिषेक तृणमूल की युवा विंग के अध्यक्ष हैं। उन्होंने अपनी पार्टी में विनय मिश्रा समेत 15 युवाओं को महासचिव बनाया था। विनय शुरू से ही कोयला घोटाले के आरोपी हैं। तृणमूल ने सीबीआई जांच पर रोक लगाने के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जो नामंजूर हो गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here