Home देश कोरोना मरीजों के लिए शुरू की नेक पहल, होम आइसोलेशन के 600...

कोरोना मरीजों के लिए शुरू की नेक पहल, होम आइसोलेशन के 600 लोगों को फ्री में खाना

81
0

कोरोना महामारी में सबसे बड़ी समस्या होम आइसोलेशन में रहने वालों के लिए है. न तो कहीं घर से बाहर निकल पाते हैं, और न ही कोई डर की वजह से इन तक सामान पहुंचाता है. ऐसे में अहमदाबाद का इस्कॉन थाल ग्रुप होम आइसोलेशन के मरीजों की सेवा के लिए नेक पहल शुरू की है. 

गुजरात के अहमदाबाद में  कोरोना महामारी में सबसे बड़ी समस्या होम आइसोलेशन में रहने वालों के लिए है. न तो कहीं घर से बाहर निकल पाते हैं, और न ही कोई डर की वजह से इनतक सामान पहुंचाता है.ऐसे में अहमदाबाद का इस्कॉन थाल ग्रुप होम आइसोलेशन के मरीजों की सेवा के लिए नेक पहल शुरू की है.

मदद के लिए आगे बढ़ाए हाथ 

कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है. अस्पतालों में बेड नहीं मिल पा रहे हैं, ऐसे में कई परिवार होम आइसोलेशन में अपना समय बिता रहे हैं. इन परिवारों के आगे सबसे बड़ी समस्या खाने-पीने की है. कहीं उनसे कोरोना संक्रमण न फैले इस डर से वे लोग घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं, तो वहीं लोग भी उनसे दूरी बनाए हुए हैं, कि कहीं उनके संपर्क में आने से वे संक्रमित न हो जाएं. ऐसे में इन परिवारों की मदद के लिए अहमदाबाद के इस्कॉन थाल ग्रुप ने हाथ आगे बढ़ाए हैं.

ग्रुप द्वारा उठाया जा रहा खाने का खर्चा  

इस्कॉन थाल ग्रुप द्वारा पूरी स्वच्छता और हाईजीन के साथ हेल्दी खाना तैयार किया जाता है. एक दिन में करीब 500 से 600 होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को ये लोग खाना उपलब्ध करा रहे हैं. इस खाने का पूरा खर्चा ग्रुप द्वारा उठाया जा रहा है. ये खाना जनसेवा के तहत निशुल्क दिया जा रहा है. 

डायट के हिसाब से तैयार हो रहा खाना 

ग्रुप के सदस्य नैयनेश ने बताया कि खाना कोरोना मरीजों की डाइट के हिसाब से तैयार किया जा रहा है. साफ शब्दों में कहा जाए, तो कोरोना मरीजों के लिए जरूरी प्रोटीन और स्वास्थ्य का ख्याल रखते हुए ये खाना तैयार किया जा रहा है. सुबह के खाने में एक सब्जी, दाल चावल और रोटी दी जाती है, जबकि रात के खाने में खिचड़ी के साथ ही कढ़ी, सब्जी, रोटी और दूध दिया जाता है.

Previous articleबंगाल विस चुनाव: कोरोना के कहर के बीच छठे चरण का मतदान कल, एक और आइपीएस अधिकारी का तबादला
Next articleकोरोना मरीजों का इलाज करने स्कूटी चलाकर MP से महाराष्ट्र पहुंचीं डॉक्टर, लॉकडाउन में नहीं थे साधन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here