Home खास ख़बरें संक्रमितों को 6 माह बाद लगे वैक्सीन, दो डोज में हो 12-16...

संक्रमितों को 6 माह बाद लगे वैक्सीन, दो डोज में हो 12-16 हफ्तों का अंतर

19
0

नई दिल्ली: कोरोना वायरस टीकाकरण पर बनाए गए राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह ने वैक्सीनेशन को लेकर दो बड़ी सिफारिशें की हैं. इसके तहत सर्वप्रथम तो कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके लोगों का 6 माह के बाद टीकाकरण हो. दूसरे कोविशील्ड वैक्सीन को दो डोज में कम से कम 12 से 16 हफ्ते का अंतर हो. फिलहाल यह अंतर 4 से 8 हफ्तों का है. एनटीएजीई की इन सिफारिशों को लागू होने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की मंजूरी की दरकार रहेगी. फिलहाल समूह की सिफारिशों को नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप के पास भेजा जाएगा.
गर्भवती महिलाओं के लिए भी निर्देश
जानकारी के मुताबिक तकनीकी समूह की सिफारिशों को कोविड-19 के लिए गठित नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप के पास भेजा जाएगा. इस दौरान गर्भवती महिलाओं को लेकर भी बड़ा दावा किया गया है. पैनल ने यह भी कहा है कि प्रेग्नेंट महिलाएं वैक्सीन का चुनाव कर वैक्सीन लगवा सकती है. समूह ने यह भी कहा है कि स्तनपान कराने वाली महिलाओं को प्रसव के बाद किसी भी समय टीका लगाया जा सकता है. हालांकि सार्स-कोव-2 का शिकार होने वाले लोगों को टीकाकरण 6 महीने के लिए टालना चाहिए.
दूसरी बार लिया गया है फैसला
गौरतलब है कि कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को लेकर लंबे समय से बहस जारी है. तीन महीनों में यह दूसरी बार है, जब इस वैक्सीन के डोज के बीच अंतराल को बढ़ाने की सिफारिश की गई है. बीती मार्च में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अंतराल 28 दिनों से 6-8 हफ्तों तक करने के लिए कहा गया था. एनटीएजीआई की सिफारिश से पहले डॉक्टरों ने कोरोना संक्रमितों को रिकवरी के तीन महीने बाद वैक्सीन लगवाने का सुझाव दिया है. सीडीसी यूएस की गाइडलाइन में भी कोरोना से रिकवरी के 90 दिन के बाद वैक्सीन लगवाने की सलाह दी गई है, जिसमें अभी कोई बदलाव नहीं किया गया है.
16 जनवरी से चल रहा है टीकाकरण
भारत में बीती 16 जनवरी को टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हो गया था. ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में तैयार हुई ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड और भारत बायोटेक में तैयार हुई कोवैक्सीन को अनुमति दी थी. हालांकि, तीन महीनों बाद कई राज्यों से वैक्सीन कमी की खबरें सामने आने लगी थीं. फिलहाल केंद्र और राज्य सरकारों के बीच सप्लाई को लेकर रार जारी है. देश में अब तक 17.5 करोड़ डोज लगाए जा चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here