Home देश 1 मई से युवाओं के वैक्सीनेशन पर ग्रहण, कई राज्यों ने टाला...

1 मई से युवाओं के वैक्सीनेशन पर ग्रहण, कई राज्यों ने टाला टीकाकरण

47
0

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकर मचा हुआ है. पिछले कई दिनों से लगातार तीन लाख से अधिक मामले हर रोज सामने आ रहे हैं. बुधवार को भी देशभर में कोरोना के करीब 3.79 लाख मामले सामने आए. ऐसे में कोरोना को काबू करने के लिए अब वैक्सीनेशन से ही उम्मीद बची है. केंद्र सरकार अपना वैक्सीनेशन अभियान 1 मई से और तेज करने जा रही है. एक मई से 18 साल से अधिक के लोगों को भी वैक्सीन लगाई जाएगी. सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी अस्पताल भी वैक्सीन लगा सकेंगे. हालांकि, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पहली मई से युवाओं के टीकाकरण पर ग्रहण के आशंका है. टीकों की आपूर्ति में देरी के चलते कोरोना से प्रभावित बड़े राज्यों महाराष्ट्र, राजस्थान और छत्तीसगढ़ ने टीकाकरण टाल दिया है. हालांकि, राहत की बात है कि एक मई से रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी भी इस्तेमाल के लिए उपलब्ध होगी.
महाराष्ट्र में पाबंदियां बढ़ीं
महाराष्ट्र कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से एक है. यहां बुधवार को कोरोना से रिकॉर्ड 985 मौतें हुई. वहीं 63 हजार से अधिक कोरोना के नए मामले सामने आए. महाराष्ट्र में वैक्सीन की भी कमी है. इसे देखते हुए बुधवार को बीएमसी को अपना जंबो वैक्सीन सेंटर बंद करना पड़ा. कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के देखते हुए महाराष्ट्र में लॉकडाउन को 15 दिन के लिए और बढ़ा दिया गया है. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि लॉकडाउन जैसी पाबंदियां बढ़ने और टीकों की पर्याप्त खुराकों की अनुपलब्धता के चलते एक मई से युवाओं का टीकाकरण नहीं हो सकेगा. भारत बायोटेक ने हर माह 10 लाख जबकि सीरम इंस्टीट्यूट ने एक करोड़ खुराक देने की बात कही है.
राजस्थान में 45 वालों को ही टीका
राजस्थान सरकार ने कहा है कि केंद्र की ओर से उन्हें परस्पर टीकों की आपूर्ति नहीं मिल रही है, ऐसे में एक मई से भी 45 से अधिक उम्र वाले लोगों को ही टीका लगेगा. अभी इस श्रेणी के एक करोड़ लोग टीका नहीं लगवा पाए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here