Home देश अगर संपूर्ण अमरनाथ यात्रा संभव नहीं हो तो सीमित यात्रा कराई जाए:...

अगर संपूर्ण अमरनाथ यात्रा संभव नहीं हो तो सीमित यात्रा कराई जाए: रविंद्र रैना

9
0

जम्मू। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना ने सोमवार को कहा कि इस वर्ष अमरनाथ यात्रा जारी रहनी चाहिए। अगर संपूर्ण यात्रा संभव न हो तो सीमित यात्रा का आयोजन कराया जाए। सोमवार को प्रदेश भाजपा की कोर ग्रुप की बैठक के बाद उन्होंने ने यह भी कहा कि कश्मीर में राजनीतिक कार्यकर्ताओं की सुरक्षा का मुद्दा उपराज्यपाल मनोज सिन्हा व पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह के समक्ष उठाया जाएगा।

आतंकियों ने गत हफ्ते भाजपा कार्यकर्ता और त्राल (पुलवामा) म्युनिसिपल कमेटी के चेयरमैन राकेश कुमार पंडिता की उनके दोस्त के घर में घुसकर हत्या कर दी थी। इस आतंकी वारदात के बाद उपजे हालात में पार्टी मुख्यालय में भाजपा कोर ग्रुप की बैठक हुई। इसमें पंचायत प्रतिनिधियों, बीडीसी सदस्यों के साथ नगर परिषदों के कार्यकर्ताओं की सुरक्षा को और पुख्ता करने का मुद्दा उठा।

बैठक के बाद रविंद्र रैना ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अगर संपूर्ण अमरनाथ यात्रा संभव न हो तो सीमित यात्रा कराई जानी चाहिए। कम से कम 15 दिन यात्रा आयोजित करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि प्रदेश के भी सीमित लोगों को यात्रा में शामिल किया जाना चाहिए। इसके लिए रणनीति बनाई जाए।

हम उपराज्यपाल से यह मुद्दा उठा चुके हैं, उनसे फिर मिलेंगे। 56 दिन तक चलने वाले अमरनाथ यात्रा 28 जून से शुरू होनी है। फिलहाल, कोरोना संक्रमण से उपजे हालात में यात्रा के आयोजन को लेकर असमंजस है। यात्रा को लेकर एक दिन पहले ही उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बीच दिल्ली में बैठक हुई है।

कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाने कश्मीर जाएंगे वरिष्ठ नेता

पार्टी सूत्रों के अनुसार कोर ग्रुप की बैठक में कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद उपजे हालात, कार्यकर्ताओं में असुरक्षा की भावना पर भी बात हुई। इसके साथ यह भी तय हुआ कि पार्टी के वरिष्ठ नेता कश्मीर दौरा करेंगे और वहां कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाएंगे। कश्मीर से लौटे संगठन महामंत्री अशोक कौल ने भी त्राल में हमले से कश्मीर में उपजे हालात के बारे में बताया है।

रैना ने कहा कि कार्यकर्ताओं की सुरक्षा पर उपराज्यपाल से बैठक होगी। यह मुद्दा गृहमंत्री अमित शाह के समक्ष भी उठाया जाएगा। बैठक में कोरोना की रोकथाम में प्रशासन का सहयोग करने और सेवा ही संगठन कार्यक्रमों पर रणनीति बनी। बैठक में सांसद जुगल किशोर शर्मा, पूर्व उपमुख्यमंत्री डा. निर्मल सिंह व कविंद्र गुप्ता, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सत शर्मा, महासचिव विबोध गुप्ता भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here