Home देश बीजेपी मजलिस से नहीं डरती, हम तुष्टिकरण की राजनीति नहीं करते

बीजेपी मजलिस से नहीं डरती, हम तुष्टिकरण की राजनीति नहीं करते

29
0

गृह मंत्री और बीजेपी नेता अमित शाह ने आज दावा किया कि तेलंगाना में 2024 में बीजेपी जीत दर्ज करेगी. उन्होंने हैदराबाद मुक्ति दिवस के अवसर पर निर्मल जिले में जनसभा को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) का भी जिक्र किया. अमित शाह ने कहा कि बीजेपी मजलिस से नहीं डरती है. गृह मंत्री ने कहा, ”आज के दिन ही पूरे देश को आजादी मिलने के 13 महीने बाद तेलंगाना को आजादी मिली थी. बीजेपी ने निर्णय किया है कि 2024 में तेलंगाना में बीजेपी की सरकार बनने के बाद हम 17 सितंबर को राज्य के अधिकृत कार्यक्रम करके हैदराबाद विमोचन दिन को धूमधाम के साथ मनाएंगे. जो डरते हैं वो डरें, बीजेपी मजलिस वालों से नहीं डरती है…हम नहीं डरते हैं. तुष्टिकरण की राजनीति नहीं करते हैं.” बता दें कि हैदराबाद रियासत का 17 सितंबर, 1948 को गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल द्वारा शुरू सैन्य कार्रवाई के बाद भारतीय संघ में विलय हो गया था. अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस का पूरे देश में पतन हो रहा है और कांग्रेस सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) का तेलंगाना में विकल्प नहीं हो सकती है, केवल बीजेपी ही विकल्प हो सकती है. अमित शाह ने कहा कि तेलंगाना के लोग बीजेपी के साथ हैं, जो 2019 के लोकसभा चुनावों और इसके बाद दुब्बाक विधानसभा उपचुनाव और पिछले वर्ष हुए बृहद हैदराबाद नगर निगम चुनावों से पता चलता है. उन्होंने कहा कि टीआरएस को एआईएमआईएम का सहयोग लेना पड़ा (नगर निकाय चुनावों के बाद). उन्होंने कहा, ‘‘पूरे देश में कांग्रेस का खात्मा हो रहा है. तेलंगाना में कांग्रेस टीआरएस का विकल्प नहीं हो सकती है. आप बताइए अगर कांग्रेस मजलिस (एआईएमआईएम के भय) के कारण विकल्प बनती है तो वह वही करेगी जो टीआरएस कर रही है. क्या वे ओवैसी के खिलाफ वे लड़ सकते हैं?… तेलंगाना का सम्मान केवल बीजेपी बढ़ा सकती है और कोई नहीं.’’ अमित शाह ने कहा, ”आज तेलंगाना के लोगों के हित में प्रजा संग्राम यात्रा शुरु की गई है. ये यात्रा 5 चरणों में चलेगी. हर चरण 50-60 दिन का रहेगा. जब ये यात्रा पांचों चरण पूरा करके वापस आएगी. तो मुझे विश्वास है कि 2024 में भाजपा सरकार की नींव डालकर वापस आएगी.” अमित शाह ने तेलंगाना की के चंद्रशेखर राव सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने दावा किया कि तेलंगाना में धर्म के आधार पर आरक्षण दिया गया है, जबकि आरक्षण धर्म के आधार पर कभी नहीं होना चाहिए. ये बीजेपी की नीति है, हम धर्म के आधार पर दिए गए आरक्षण का विरोध करते हैं. ये संविधान सम्मत नहीं है, इसे तुरंत निरस्त किया जाना चाहिए.

Previous articleमुंबई में आतंकी हमलों का खतरा: ट्रेन में गैस अटैक और यात्रियों पर हमले कर सकते हैं आतंकी, अलर्ट जारी
Next articleनोएडा में सुबह-सुबह सड़क हादसा, महिला कर्मचारियों को लेकर जा रही बस पलटी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here