Home देश संसद का घेराव करने के बयान पर टिकैत को संयुक्त किसान मोर्चा...

संसद का घेराव करने के बयान पर टिकैत को संयुक्त किसान मोर्चा की चेतावनी, ‘सोच समझकर बोले’

46
0

सोनीपत। बिखर रहे किसान आंदोलन को संभालने वाले भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के एक बयान को लेकर किसान नेताओं के साथ उनका मतभेद बढ़ता ही जा रहा है। पहले टिकैत ने किसानों को फसल जलाने की अपील की थी, जिस पर कई किसानों ने अपनी फसले नष्ट कर दी थी वहीं अब उनके संसद का घेराव करने के बयान पर भी तकरार शुरू हो गई है। इस बयान को लेकर किसान नेताओं ने राकेश टिकैत को सोच समझकर बयान देने की नसीहत दी है। किसान नेताओं का मानना है कि राकेश टिकैत के हर बयान पर पूरी दुनिया की नजर रहती है इसलिए उनको ऐसे बयान देने से बचना चाहिए और उन्होंने इसे उनका निजी बयान बताया।
बता दें कि ट्रैक्टर परेड के टूटते आंदोलन में भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के आंसुओं ने दोबारा जान डाली थी। टिकैत को उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि हरियाणा, राजस्थान समेत अन्य सभी प्रदेशों में सबसे ज्यादा तवज्जो मिल रही है। लेकिन उनके बयान संयुक्त किसान मोर्चा को परेशान कर रहे हैं और उनके बयानों को लेकर तकरार बढ़ती जा रही है। फसल नष्ट करने वाले बयान के बाद अब राकेश टिकैत ने 40 लाख ट्रैक्टर लेकर संसद का घेराव करने का बयान दिया है जिस पर संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई है।
मोर्चे के नेताओं ने राकेश टिकैत को इस तरह के बयान नहीं देने की नसीहत तक दी है। उनका मानना है कि इतने बड़े किसान नेता कोई बयान देते हैं तो उस पर अमल भी होना चाहिए। इस तरह से केवल बयान देने से गलत संदेश जाता है और उनके बयान को इस समय काफी अहम माना जाता है। किसान नेताओं ने यह भी साफ कर दिया कि यह उनका निजी बयान है। उन्होंने कहा कि इस तरह से कोई भी नेता बयान देता है तो वह उसका निजी बयान होगा। उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा का बयान उसे ही माना जाएगा जो बैठक के बाद जारी किया जाएगा।

Previous articleपीएम मोदी ने गुलमर्ग खेलो इंडिया विंटर गेम्स का किया शुभारंभ, कहा-देश के हर जिले में होगा खेलो इंडिया सेंटर
Next articleकलाकार ने 60 हजार सिक्कों से बनाई राम मंदिर की अनोखी और अद्भुत संरचना, देखकर लोग भी हैरान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here