Home » फर्जी अफसर, झूठे गवाह, आर्यन से 25 करोड़ वसूली की थी तैयारी… क्रूज पर रेड में ऐसे फंस गए वानखेड़े

फर्जी अफसर, झूठे गवाह, आर्यन से 25 करोड़ वसूली की थी तैयारी… क्रूज पर रेड में ऐसे फंस गए वानखेड़े

  • आर्यन खान ड्रग्स केस के बाद एनसीबी ने समीर वानखेड़े समेत कुछ अफसरों पर विजिलेंस जांच बैठाई थी.
  • एनसीबी की इसी विजिलेंस रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई ने समीर वानखेड़े समेत एनसीबी के कुछ अफसरों पर एफआईआर दर्ज की है.
  • विजिलेंस जांच से जुड़े सूत्रों ने आज तक को समीर वानखेड़े और आर्यन खान की गिरफ्तारी की इनसाइड डिटेल्स बताई हैं.
    नई दिल्ली,
    नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर रहे समीर वानखेड़े विवादों में हैं. सीबीआई ने समीर वानखेड़े समेत एनसीबी के कुछ अफसरों पर एफआईआर दर्ज की है. एफआईआर से पता चला है कि ड्रग्स मामले में वानखेड़े की टीम अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के मामले में 25 करोड़ रुपये वसूलने की प्लानिंग कर रही थी. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या समीर वानखेड़े ड्रग्स पकड़ने की आड़ में एक्सटॉर्शन रैकेट चला रहे थे? एनसीबी की विजिलेंस जांच में वानखेड़े को लेकर तमाम बड़े खुलासे हुए हैं, साथ ही सामने आया है कि कैसे क्रूज पर रेड की पूरी साजिश रची गई और 25 करोड़ रुपये वसूलने की प्लानिंग की गई. दरअसल, आर्यन खान ड्रग्स केस के बाद एनसीबी ने समीर वानखेड़े समेत कुछ अफसरों पर विजिलेंस जांच बैठाई थी. एनसीबी की इसी विजिलेंस रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई ने समीर वानखेड़े समेत एनसीबी के कुछ अफसरों पर FIR दर्ज की है. विजिलेंस जांच से जुड़े सूत्रों ने आज तक को समीर वानखेड़े और आर्यन खान की गिरफ्तारी की इनसाइड डिटेल्स बताई हैं. सामने आई डिटेल्स के मुताबिक, एनसीबी की विजिलेंस टीम के अहम किरदार समविल डिसूजा ने वानखेड़े को लेकर तमाम बड़े खुलासे किए हैं. इसके बाद वह वानखेड़े की टीम के लिए शिकार की तलाश करने लगा. इतना ही नहीं आरोप है कि फर्जी ड्रग्स प्लांट में एनसीबी की ये टीम डिसूजा का इस्तेमाल करती थी.
    वानखेड़े को लगी क्रूज पार्टी की भनक
    समीर वानखेड़े को गुजरात के रहने वाले पाटिल नाम के एक शख्स ने क्रूज पर होने वाली पार्टी की जानकारी दी. बताया गया कि इसमें ड्रग्स पार्टी भी होगी. वानखेड़े को बताया गया कि इसमें कुछ बड़े व्यापारी और बड़े नाम वाले लोग शामिल होंगे, जिन्हें टारगेट किया जा सकता है. हालांकि, अब तक आर्यन खान के पार्टी में शामिल होने की जानकारी एनसीबी को नहीं थी. डिसूजा और पाटिल एक दूसरे को जानते थे, जब एनसीबी ने क्रूज पर रेड डालने की प्लानिंग की, तो डिसूजा ने वानखेड़े और एनसीबी के अधिकारी वीवी सिंह से दो प्राइवेट पर्सन भानुशाली और किरण गोसावी की मुलाकात करवाई.एनसीबीने भानुशाली और किरण गोसावी को टास्क दिया कि वह क्रूज पर बड़ा कैच पकड़े. NCB ने अपने टारगेट में 27 लोगो की लिस्ट तैयार की, लेकिन जैसे ही समीर वानखेड़े को जानकारी मिली कि क्रूज पर आर्यन खान अपने दोस्तों के साथ आ रहा है. लिस्ट छोटी कर दी गई और अब लिस्ट में केवल 10 नाम शामिल किए गए.
    आर्यन समेत 10 लोग थे एनसीबी की लिस्ट में
    आर्यन क्रूज पर आया, उसे पकड़ लिया गया, उसका फोन एनसीबी ने अपने कब्जे में ले लिया ताकि वो अपने घर फोन न कर पाए. सूत्रों के मुताबिक, आर्यन खान के साथ उसके चार अन्य दोस्त भी क्रूज पर सवार थे, पर केवल अरबाज के पास से चरस बरामद हुई, उसे पकड़ लिया गया. ड्रग्स चैट्स तो आर्यन के बाकी तीन दोस्तों के पास से भी बरामद हुई पर उन्हें छोड़ कर केवल सेलेक्टिव टारगेट आर्यन खान को किया गया.

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd