Home » श्रद्धालुओं को घंटों नहीं करना पड़ेगा इंतजार, चारधाम यात्रा के लिए लागू होगा “टोकन” सिस्टम

श्रद्धालुओं को घंटों नहीं करना पड़ेगा इंतजार, चारधाम यात्रा के लिए लागू होगा “टोकन” सिस्टम

  • श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए उत्तराखंड सरकार ने ‘स्लॉट’ और टोकन वितरण तथा कतार प्रबंधन की व्यवस्था लागू करने का निर्णय लिया है।
    देहरादूनः
    इस माह शुरू होने जा रही चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए उत्तराखंड सरकार ने ‘स्लॉट’ और टोकन वितरण तथा कतार प्रबंधन की व्यवस्था लागू करने का निर्णय लिया है। राज्य के पर्यटन एवं धर्मस्व मंत्री सतपाल महाराज ने एक बयान में बताया कि चारों धाम बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में लगने वाली लंबी-लंबी कतारों तथा दर्शन में लगने वाले कई-कई घंटों के समय को देखते हुए एक-एक घंटे के ‘स्लॉट’ के लिए टोकन वितरित करने एवं कतार प्रबंधन की व्यवस्था का फैसला किया गया है। अक्षय तृतीया पर 22 अप्रैल को गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट खुलने के साथ ही इस वर्ष की चारधाम यात्रा शुरू होगी। केदारनाथ धाम के कपाट 25 अप्रैल और बद्रीनाथ के कपाट 27 अप्रैल को खुलेंगे। महाराज ने बताया कि यह व्यवस्था प्रत्येक धाम में उपलब्ध स्थान व आवासीय क्षमता के आधार पर संबंधित जिलाधिकारियों और मंदिर समितियों की सहमति से लागू की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस व्यवस्था के लागू होने से श्रद्धालुओं को अधिकतम एक घंटा ही कतार में लगना पड़ेगा। वहीं पर्यटन मंत्री ने कहा कि टोकन वितरण के लिए हर धाम में काउंटर लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इससे चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं को न केवल मंदिर में सुगमता से दर्शन होंगे बल्कि उन्हें धाम पर भ्रमण का पर्याप्त समय भी मिल सकेगा। महाराज ने बताया कि चारधाम यात्रा के लिए अब तक कुल 13.37 लाख यात्री अपना पंजीकरण करवा चुके हैं।