Home » महिला पहलवानों के समर्थन में उतरा बीआरएस,  के कविता ने कहा कि कार्रवाई करे केंद्र सरकार

महिला पहलवानों के समर्थन में उतरा बीआरएस,  के कविता ने कहा कि कार्रवाई करे केंद्र सरकार

यौन उत्पीड़न के मामले में पहलवानों द्वारा किया जा रहा विरोध प्रदर्शन दिनों—दिन तूल पकड़ता जा रहा है। कई राजनीतिक दल पहलवानों के समर्थन में खुलकर उतर आए हैं। भारत राष्ट्र समिति ने भी इस पर अपना कड़ा विरोध जताया है। बीआरएस की विधायक व पूर्व सांसद के कविता ने केंद्र सरकार ने इस मामले पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।
निजामाबाद की पूर्व सांसद कल्वाकुंतला कविता ने एक ट्वीट कर कहा कि ‘केंद्र सरकार अब एक्शन ले’। उन्होंने कहा कि महिला पहलवानों ने देश का गौरव बढ़ाया है, वो सरकार की खामोशी के आगे नहीं हार सकती। उन्होंने कहा कि महिला पहलवानों ने बार-बार दुनिया भर में अपनी जीत के साथ हमारे देश को गौरवान्वित किया है। ऐसे में सरकार को तुरंत इस पर ध्यान देना चाहिए। इस पर चुप्पी देश हित में नहीं होगी। उन्होंने सरकार से ऐसी कार्रवाई की मांग की जो देश-हित में हो और हमारे एथलीटों की गरिमा के अनुकूल हो।
सनद रहे कि देश के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई पदक जीत चुके कई पहलवान इस साल जनवरी माह से ही दिल्ली पहुंचकर सांसद बृजभूषण शरण सिंह के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन करते आ रहे हैं। ओलम्पिक पदक विजेता साक्षी मलिक, बजरंग पूनिया और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहलवान विनेश फोगाट समेत कुछ एथलीट भारतीय कुश्ती फेडरेशन के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं, जिन पर महिला एथलीटों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया गया है। मंगलवार को साक्षी मलिक, बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट सहित कई शीर्ष पहलवान हरिद्वार में गंगा नदी के तट पर एकत्रित हुए और इन पहलवानों ने बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ कार्रवाई नहीं किए जाने के विरोध में अपने द्वारा जीते गए विश्व चैम्पियनशिप और ओलंपिक मेडल गंगा नदी में बहा देने के लिए एकत्रित भी हो गए। पर किसान नेता नरेश टिकैत और अन्य खाप व किसान नेताओं ने पांच दिन के भीतर समाधान का वादा करते हुए पहलवानों को मेडल बहाने से रोकने के लिए मना लिया। गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के शोरम कस्बे में एक अहम खाप पंचायत बुलाई है। महापंचायत में विभिन्न खापों के प्रतिनिधियों और उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और दिल्ली से उनके प्रमुखों के भाग लेने की उम्मीद है, ताकि पहलवानों के विरोध प्रदर्शन का अगला कदम तय किया जा सके।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd