Home » 2024 लोकसभा की तैयारियों में जुटी बीजेपी, नए मतदाता वर्ग दिव्यांगजन, आदिवासी, ट्रांसजेंडर पर नजर

2024 लोकसभा की तैयारियों में जुटी बीजेपी, नए मतदाता वर्ग दिव्यांगजन, आदिवासी, ट्रांसजेंडर पर नजर

भाजपा आम चुनाव 2024 के मद्देनजर नए मतदाता वर्ग तैयार करने की कवायद में जुट गई है। खासकर दिव्यांगों,आदिवासियों, ट्रांसजेंडर, महिला और गरीब शोषित तबका पर विशेष ध्यान केंद्रित करेगी। मोदी सरकार के 9 वर्ष पूरे होने के अवसर पर भाजपा ने आज एक पुस्तिका जारी की है।पुस्तिका को ‘9 सालः सेवा, सुशासन और गरीब कल्याण’ नाम दिया गया है। 110 पृष्ठ की इस पुस्तिका में विभिन्न क्षेत्रों में सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया गया है।
इस पुस्तिका में गरीब कल्याण, देश के कल्याण को केंद्र में रखकर सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का विस्तार से चर्चा की गई है। इसके तहत दिव्यांगजन का सशक्तिकरण, जनजातीय लोगों के लिए सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करने की बात कही गई है। सरकार ने दावा किया है कि 80 करोड़ भारतीयों के लिए खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित की गई है। कमजोर वर्गों की आकांक्षाओं की पूर्ति के साथ ही उनके अधिकारों की भी सरकार ने रक्षा की है। साथ ही 3 करोड़ से अधिक गरीबों को सभी बुनियादी सुविधाओं वाले आवास उपलब्ध कराने का भी सरकार ने दावा किया है। इतना ही नहीं सरकार ने दिव्यांगजनों के सशक्तिकरण के लिए किए गए कार्यों का ब्योरा दिया है। सरकार का कहना है कि दिव्यांगता के प्रकारों को 7 से बढ़ाकर 21 किया गया है। सरकारी नौकरियों और उच्च शिक्षा में आरक्षण क्रमशः 3 प्रतिशत से बढाकर 4 प्रतिशत और 3 प्रतिशत से बढ़ाकर 5 प्रतिशत किया गया है। सरकार का दावा है कि 24.45 लाख दिव्यांगजनों को सशक्त बनाने के लिए 13528 शिविरों में सहायता और सहायक उपकरण बांटे गए हैं।
जनजातीय लोगों का विकास सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने 401 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय शुरू किया है। वन धन को बढ़ावा देने के लिए 3110 विकास केंद्र स्थापित किए गए हैं। जबकि 8.5 लाख कारीगरों, शिल्पकारों और खानपान विशेषज्ञों को रोजगार मुहैया कराया गया है। सरकार ने यह भी दावा किया है कि 9 वर्षों में कमजोर वर्ग के आकांक्षाओं को पूरा करने का काम किया गया है। ईडब्लूएस के लिए नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में 10 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की गई है। राज्यों को ओबीसी सूची बनाने का अधिकार दिया गया है। रेहड़ी पटरी विक्रेताओं के लिए आसान ऋण का प्रबंध किया गया है। सरकार ने महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए उठाए गए कदमों का भी पुस्तिका में जिक्र किया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति, सभी के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं, अस्पतालों के विस्तार के बारे में भी सरकार ने अपनी उपलब्धियां गिनाई हैं। इसके अलावा कोरोना महामारी के दौरान चलाए गए टीकाकरण अभियान का भी पुस्तिका में उल्लेख है। सरकार ने बताया है कि इस महामारी से बचाव के लिए कोविशील्ड, कोवैक्सीन,कॉर्बवैक्स, जाइकोव-डी, कोवोवैक्स टीके तैयार किए गए। राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति के मामले में भी सरकार ने अपनी उपलब्धियां गिनाई हैं। सरकार ने सड़कों के निर्माण, रेल नेटवर्क में बढ़ोत्तरी, नए हवाई अड्डों के निर्माण, जलमार्ग के विस्तार के जरिए यातायात और आवागमन को सुगम बनाया है। सरकार ने बताया है कि 2022-23 के बीच 7,35,085 किमी सड़क तैयार हुई है। जबकि 2013-14 में 3,86,197 किमी सड़कों का निर्माण हुआ था। डिजिटल इंडिया के जरिए आए बदलाव का भी सरकार ने पुस्तिका में जिक्र किया है। अर्थव्यवस्था, कृषि के क्षेत्र में भी हासिल उपलब्धियों को सरकार ने गिनाया है।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd