Home देश बंगाल चुनाव : तृणमूल कांग्रेस नेत्री सुजाता मंडल पर चुनाव आयोग ने...

बंगाल चुनाव : तृणमूल कांग्रेस नेत्री सुजाता मंडल पर चुनाव आयोग ने 24 घंटे तक लगाया प्रतिबंध

8
0

कोलकाता। चुनाव आयोग ने टीएमसी नेत्री सुजाता मंडल पर 24 घंटे (18 अप्रैल शाम सात बजे से 19 अप्रैल शाम सात बजे) तक प्रतिबंध लगा दिया है। यह प्रतिबंध एक टीवी चैनल के इंटरव्यू के दौरान उनके अनुसूचित जाति के खिलाफ टिप्पणी को लेकर लगाया गया है। इससे पहले चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस नेत्री सुजाता मंडल खां को अनुसूचित जाति के खिलाफ विवादित बयान को लेकर नोटिस जारी किया था। आयोग ने नोटिस मिलने के 24 घंटे के अंदर सुजाता मंडल खां को इसका जवाब देने को कहा था। ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और उनसे तृणमूल के स्टार प्रचारक का दर्जा भी छीना जा सकता है। मुख्तार अब्बास नकवी की अगुआई वाले भाजपा के प्रतिनिधि दल की ओर केंद्रीय चुनाव आयोग से शिकायत की गई थी।

गौरतलब है कि सुजाता मंडल खां ने एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा था कि कुछ लोग स्वाभाविक तौर पर भिखारी होते हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अनुसूचित जाति के लोगों की इतनी मदद कर रही हैं, फिर भी वह भाजपा के हाथों बिक गए हैं। इसके पहले भड़काऊ भाषण को लेकर कई तृणमूल व भाजपा नेताओं को आयोग की ओर से नोटिस दिया जा चुका है।

इससे पहले दिसंबर, 2020 में भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के प्रदेश अध्यक्ष व बंगाल के विष्णुपुर से भाजपा सांसद सौमित्र खां की पत्नी सुजाता मंडल खां ने पार्टी पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गई थी। इसके कुछ देर बाद ही सौमित्र खां ने अपनी पत्नी को तलाक का नोटिस भेजने की घोषणा कर दी। एक दिन पहले उन्होंने तलाक का नोटिस भेज भी दिया।

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में सौमित्र खां की जीत का श्रेय पत्नी सुजाता मंडल को ही दिया जाता है। दरअसल सौमित्र खां आपराधिक केस में फंसे थे। लोकसभा चुनाव के दौरान उन्हें कोर्ट से जमानत तो मिली लेकिन क्षेत्र में प्रचार की मनाही थी। कोलकाता हाईकोर्ट ने उनके निर्वाचन क्षेत्र में घुसने पर ही पाबंदी लगा दी थी। इसके बाद उनके प्रचार का पूरा मोर्चा सुजाता ने ही संभाला‌। उन्होंने पूरे क्षेत्र में जोरदार प्रचार किया और अपने पति को जीत दिलाई। लेकिन अब नौबत तलाक पर आ गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here