Home देश भारतीय सेना जर्मनी से 23 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट करेगी इंपोर्ट, दूर होगी...

भारतीय सेना जर्मनी से 23 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट करेगी इंपोर्ट, दूर होगी किल्लत

54
0

देश इस वक्त कोरोना के महासंकट से जूझ रहा है. हर ओर से बढ़ते मामलों और मौतों की खबरें आ रही हैं. इस बीच सबसे बड़ा संकट ऑक्सीजन का है, क्योंकि कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी है, तो कहीं सप्लाई में परेशानी हो रही है. 

भारतीय सेना ऑक्सीजन संकट को खत्म करने के लिए जर्मनी से 23 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लाने वाली है. रक्षा मंत्रालय ने हवाई मार्ग से इन सभी जनरेशन प्लांट को भारत लाने का फैसला किया है. जानकारी के मुताबिक AFMS 23 मोबाइल ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट जर्मनी से इंपोर्ट कर रहा है. ये सभी एक हफ्ते के अंदर पहुंचेंगे. ये प्लांट AFMS के हॉस्पिटल्स में लगाए जाएंगे. ताकि अस्पतालों के पास इन्हें लगाया जा सके और ऑक्सीजन की सप्लाई को सुचारू रूप से चालू रखा जाए. 

देश इस वक्त कोरोना के महासंकट से जूझ रहा है. हर ओर से बढ़ते मामले और मौतों की खबरें आ रही हैं. इस बीच सबसे बड़ा संकट ऑक्सीजन का है, क्योंकि कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी है, तो कहीं सप्लाई में परेशानी हो रही है. इस महासंकट के बीच अब वायुसेना ने मोर्चा संभाल लिया है. एयरफोर्स अब ऑक्सीजन कंटेनर्स को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने में जुट गई है. 

भारतीय वायुसेना के दो C17 विमानों ने दो बड़े ऑक्सीजन कंटेनर्स, IL 76 ने एक खाली कंटेनर को बंगाल के पन्नागढ़ पहुंचाया. इन तीनों कंटेनर्स को ऑक्सीजन से भरा जाएगा और दिल्ली लाया जाएगा. वायुसेना की ओर से ऑक्सीजन की सप्लाई को पूरा करने के लिए देश के अलग-अलग हिस्सों में इस तरह का ऑपरेशन चलाया जाएगा. 

इससे पहले वायुसेना ने केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के लेह में कोविड टेस्टिंग सेटअप को पहुंचाया, ताकि टेस्टिंग की प्रक्रिया में किसी तरह की रुकावट ना आए. गौरतलब है कि देश के कई राज्यों के अस्पताल इस वक्त ऑक्सीजन की किल्लत से जूझ रहे हैं. 

केंद्र सरकार का कहना है कि ऑक्सीजन की कमी नहीं है, लेकिन सप्लाई में काफी दिक्कत आ रही हैं. कई जगह ऑक्सीजन सड़क के रास्ते से पहुंच रही है, इसलिए उसमें वक्त लग रहा है. यही कारण है कि दिल्ली, महाराष्ट्र, यूपी, मध्य प्रदेश, कर्नाटक समेत दर्जनों राज्यों में इस वक्त ऑक्सीजन को लेकर मारामारी चल रही है. 

Previous articleसूरतः रोजा रख कोरोना मरीजों के इलाज में लगी है 4 महीने की प्रेगनेंट नर्स
Next articleकोरोना के बीच रिया चक्रवर्ती ने बढ़ाया मदद का हाथ, पोस्ट साझा कर दी अहम जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here