2025 तक भारत ने 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का लिया है संकल्प, टाइम्स नाउ समिट में बोले अमित शाह- जो विकास की राजनीति करेगा वही शासन करेगा

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp
  • गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि समय आ गया है कि दुनिया हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों के बारे में जाने।
  • हम 2025 तक पांच खरब अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे।
  • वर्ष 2014 में हमारे पास चार ‘यूनिकॉर्न’ स्टार्ट-अप थे, अब हमारे पास 100 से अधिक हैं।
    नई दिल्ली,
    टाइम्स नाउ समिट 2022 में गृह मंत्री अमित शाह ने मोदी सरकार की बीते आठ साल की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा कि 2047 में भारत के शताब्दी वर्ष में देश को संपूर्ण रूप से एक विकसित राष्ट्र बनाना है। अमित शाह ने कहा कि कई लोग भारत को सबसे बड़ा लोकतंत्र मानते हैं। कहा, यह आगे देखने का समय है, पीछे नहीं। शाह ने इस बात पर प्रकाश डाला कि भारत ने 2025 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का संकल्प लिया है और तेजी से लक्ष्य की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने पिछले आठ वर्षों में अर्थव्यवस्था के हर आयाम में महान ऊंचाइयों को हासिल करने के लिए मोदी सरकार के प्रयासों की भी सराहना की। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि समय आ गया है कि दुनिया हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों के बारे में जाने। हम 2025 तक पांच खरब अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे। वर्ष 2014 में हमारे पास चार ‘यूनिकॉर्न’ स्टार्ट-अप थे, अब हमारे पास 100 से अधिक हैं। लंबे समय तक यह कहा गया कि जम्मू कश्मीर अनुच्छेद 370 के कारण भारत के साथ है, जम्मू कश्मीर अब भी हमारे साथ है। जम्मू कश्मीर में आतंकवाद की जड़ें गहरी हैं लेकिन हम इसके खात्मे के लिए प्रतिबद्ध है। अमित शाह ने कहा कि भाजपा समान नागरिक संहिता लाने के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन चर्चा और विचार-विमर्श के बाद। अमित शाह ने ईडी, सीबीआई के कथित दुरुपयोग पर कहा जिसे भी शिकायत है, वह अदालत में जा सकता है। इसे राजनीतिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए। शाह ने आम आदमी पार्टी (आप) के नेता सत्येंद्र जैन की तरफ इशारा करते हुए कहा कि जेल में जेल मंत्री के सुविधाएं लेने के मुद्दे पर सवाल हमसे नहीं, बल्कि उनकी पार्टी से किए जाने चाहिए।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News