Home देश कोरोना से लड़खड़ाता भारत, रूस-अमेरिका और UK से आई मदद की खेप

कोरोना से लड़खड़ाता भारत, रूस-अमेरिका और UK से आई मदद की खेप

28
0

भारत के लिए रूस, यूके और अमेरिका समेत कई विदेशी देशों ने मदद का हाथ बढ़ाया है. रूस द्वारा भेजे दो जहाज अभी अभी राजधानी दिल्ली के एयरपोर्ट पर उतरे हैं. रूस की तरफ से 20 Oxygen concentrator, 75 वेंटिलेटर, 150 बेड साइड मॉनिटर और Fabipiravir दवाइयां पहुंची हैं. 

देश में कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा दो लाख पार कर गया है. कोरोना महामारी हर रोज अपने पुराने रिकॉर्ड को तोड़ रही है.  पिछले चौबीस घंटे में 3.60 लाख कोरोना के केस दर्ज किए गए. सबसे बुरा हाल महाराष्ट्र, दिल्ली और यूपी का है. महाराष्ट्र में बीते चौबीस घंटे में 985 लोगों की जान चली गई. वहीं पूरे देश में एक दिन में 3.2 हजार लोगों की कोरोना के कारण मौत हो गई. महाराष्ट्र में पिछले चौबीस घंटे में 63,309 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए. ये आंकड़े बताते हैं कि देश में कोरोना की कितनी भयावह स्थिति है. 

ऐसे में भारत के लिए रूस, यूके और अमेरिका समेत कई विदेशी देशों ने मदद का हाथ बढ़ाया है. रूस द्वारा भेजे दो जहाज अभी अभी राजधानी दिल्ली के एयरपोर्ट पर  उतरे हैं. रूस की तरफ से 20 Oxygen concentrator, 75 वेंटिलेटर, 150 बेड साइड मॉनिटर और Fabipiravir दवाइयां पहुंची हैं. 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्विटर बताया कि यूके से एक और शिपमेंट भारत पहुंच चुका है. 120 ऑक्सीजन संकेंद्रक (oxygen concentrators) आज सुबह ही पहुंचे हैं.

बीते दिन ही अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत की मदद करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया था. अब अमेरिका से मदद की पहली खेप का आना शुरू हो चुका है. अमेरिका से आने वाले जहाज में 440 ऑक्सीजन सिलेंडर, रेगुलेटर, 960,000 Rapid Diagnostic Tests और 100,000 N-95 मास्क भारत पहुंच चुके हैं.

इस बीच प्रधनामंत्री मोदी और रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने भी देश में बिगड़ती कोरोना वायरस की स्थिति पर बात की. पुतिन ने भारत की हर संभव मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है.

दूसरी तरफ यूनाइटेड नेशंस ने भी भारत की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है. UN के उप प्रवक्ता ने बताया है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूनीसेफ ऑक्सीजन सप्लाई के लिए 7000 ऑक्सीजन CONCENTRATORS और 500 NASAL devices की खरीदारी कर रही है. इसके अलावा कोविड-19 टेस्टिंग मशीन, ऑक्सीजन जनरेटिंग प्लांट्स और प्रोटेक्टिव किट्स भी खरीद रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here