Home » रूस में फंसे यात्रियों को लेने पहुंचा एयर इंडिया का दूसरा विमान, सैन फ्रैंसिस्को के लिए भरी उड़ान

रूस में फंसे यात्रियों को लेने पहुंचा एयर इंडिया का दूसरा विमान, सैन फ्रैंसिस्को के लिए भरी उड़ान

  • एयर इंडिया की दिल्ली-सैन फ्रैंसिस्को फ्लाइट को मगदान एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी थी।
    मॉस्को,
    रूस में फंसे एयर इंडिया विमान के यात्री गुरुवार को एयरलाइन के एक दूसरे विमान के जरिए सैन फ्रैंसिस्को रवाना हो गए। गौरतलब है कि तकनीकी खराबी के चलते एयर इंडिया की दिल्ली-सैन फ्रैंसिस्को फ्लाइट को मंगलवार को रूस के मगदान एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी थी। इसके बाद से 216 यात्री और चालक दल के 16 सदस्य रूस में ही फंसे थे। एयर इंडिया ने इन्हें अपने गंतव्य तक पहुंचाने के लिए बुधवार को ही एक फेरी फ्लाइट रवाना कर दी थी। एयर इंडिया ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि एयर इंडिया फ्लाइट एआई173डी मगदान से सैन फ्रैंसिस्कों के लिए आठ जून को स्थानीय समयानुसार सुबह 10.27 बजे उड़ान भर चुकी है और इसके रात 12.15 तक सैन फ्रैंसिस्को एयरपोर्ट पर पहुंचने का अनुमान है। एयरलाइन ने कहा कि यात्रियों को जल्द से जल्द रवाना करने के लिए एयर इंडिया ने सैन फ्रैंसिस्को एयरपोर्ट पर अतिरिक्त मदद रखी है ताकि यहां पहुंचने पर सभी यात्रियों के क्लियरेंस से जुड़ी औपचारिकताओं को जल्द से जल्द पूरा कर लिया जाए। इसी ट्वीट में कहा गया कि सैन फ्रैंसिस्को एयरपोर्ट पर मौजूद टीम यात्रियों की हर तरह से मदद के लिए तैयार है। न सिर्फ चिकित्सीय सेवा के लिए बल्कि उनके परिवहन की जरूरतों और इसके बाद हो सकने वाली मदद के लिए भी।
    इंजन में खराबी की वजह से हुई थी इमरजेंसी लैंडिंग
    इससे पहले मंगलवार को दिल्ली-सैन फ्रांसिस्को उड़ान संख्या एआई-173 216 को मगादान हवाई अड्डे की ओर मोड़ दिया गया था, क्योंकि इसके एक इंजन में बीच हवा में खराबी आ गई थी। इसके बाद रूस के मगदान हवाई अड्डे पर इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई थी। मगदान उत्तर-पूर्वी रूस में ओखोतस्क (Okhotsk) सागर के तट पर स्थित है और मगदान ओब्लास्ट के प्रशासनिक केंद्र के अंतर्गत आता है। बंदरगाह शहर मगदान मास्को से लगभग 10,167 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हवाई मार्ग से मॉस्को से मगदान पहुंचने में लगभग सात घंटे 37 मिनट लगते हैं।
    एयर इंडिया ने ही की थीं यात्रियों के लिए ठहरने की व्यवस्था
    एयर इंडिया ने पहले अपने बयान में कहा था कि सभी यात्रियों और चालक दल के सदस्यों को ‘होटल में ठहरने की व्यवस्था’ की गई है। लेकिन बुधवार को इसने कहा कि ‘बुनियादी ढांचे की बाधाओं’ के कारण उन्हें अस्थायी आवासों में रखने के लिए मजबूर होना पड़ा।
    रूस में फंसे भारतीयों को दवाओं और खाने के सामान की किल्लत
    रूस में फंसे भारतीयों को रात भर दवाओं और खाने के सामान की किल्लत का सामना करना पड़ा। रूस में जहां भारतीय फंसे हैं वहां एअर इंडिया का कोई ग्राउंड स्टाफ नहीं है। जिसके चलते यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। सोशल मीडिया पर कई वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें कुछ यात्री जमीन पर गद्दे में सोते दिख रहे हैं। भाषायी बाधाओं के कारण इन्हें स्थानीय प्रशासन से बात करने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ा।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd