Home देश वैक्सीन लगवाने के बाद भी हो रहा संक्रमण, इस सवाल पर बोले...

वैक्सीन लगवाने के बाद भी हो रहा संक्रमण, इस सवाल पर बोले एम्स के डायरेक्टर

21
0

नई दिल्ली। देश में कोरोना काफी तेजी से फैल रहा है। ऐसे में दिल्ली भी इससे अछूता नहीं है। राजधानी में भी लगातार केस काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। देश के सबसे बड़े अस्पताल एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कोविड के केसों की बढ़ने के कई कारण हैं मगर मुख्य कारण पर गौर करें तो यह पता चलेगा कि दो ही मुख्य वजह रही, जिसके कारण कोरोना तेजी से फैला है। गुलेरिया के मुताबिक जनवरी-फरवरी में जब वैक्सीनेशन शुरू हुआ तब लोग कोरोना के प्रोटोकॉल को लेकर ढिलाई बरतनी शुरू कर दी। वहीं, इसी दौरान वायरस में म्यूटेशन (बदलाव) हो गया जो काफी तेजी से फैल गया। इसी कारण वायरस इस बार तेजी से फैला है। बता दें कि कई बार लोग बिना मास्क के ही बाहर निकल जाते हैं।

जब यह पूछा गया कि वैक्सीन लेने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहे हैं ऐसे में वैक्सीन की उपयोगिता क्या है। इस पर उन्होंने सभी का भ्रम दूर करते हुए कहा कि वैक्सीन को लेकर कई तरह की बातें हैं। गुलेरिया ने कहा कि हमें यह याद रखना होगा कि कोई भी वैक्सीन सौ फीसद कारगर नहीं है। आप संक्रमित हो सकते हैं, लेकिन हमारे शरीर के एंटीबाडी वायरस को बढ़ने नहीं देंगे। इससे यह फायदा जरूर होगा कि आप गंभीर रूप से बीमार नहीं पड़ेंगे।

रणदीप गुलेरिया ने यह भी लोगों से अपील की है कि जो भी लोग वैक्सीनेशन के लिए पात्रता रखतें हैं उन्हें आगे आकर वैक्सीन लेनी चाहिए। ज्यादा-से-ज्यादा लोग वैक्सीन लेंगे तब ही इस बीमारी को हम हरा सकेंगे। बता दें कि दिल्ली में कोरोना पिछली बार कि तुलना में काफी ज्यादा फैल रहा है। इस बार इस महामारी के चपेट में काफी लोग आ रहे हैं। बीमारी का संक्रमण दर 19 फीसद के करीब है। इस कारण दिल्ली के सारे पुराने रिकॉर्ड तोड़कर कोरोना के 19,486 के नए मामले शुक्रवार को मिले। वहीं देश में भी कोरोना का हाल काफी ज्यादा ही खराब है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, बीते 24 घंटे में देश में 2,34,692 नए संक्रमित मिले हैं। वहीं 1,341 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद देश में अब तक कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1,45,26,609 पहुंच गया है।

बता दें कि एक स्वास्थ्यकर्मी ने बताया कि कई लोग बीमारी के लक्षण के बावजूद जानकारी सामने नहीं आने देते हैं। इस कारण वह दूसरों के लिए खतरा बनते हैं। वहीं सरकार कांटेक्ट ट्रेसिंग पर लगातार जो देती रही है। कांटेक्ट ट्रेसिंग के मामले में पिछले कुछ दिनों से ढिलाई बरती जा रही है। यह भी जानकारी आई कि हाल में ही दिल्ली के कालकाजी में रहने वाले एक शख्स जब संक्रमित हुए तब उनके कांटेक्ट ट्रेसिंग के मामले में प्रशासन ने ढिलाई बरती।

Previous articleपश्चिम बंगाल चुनाव प्रचार: ‘दीदी’ की राजनीति है झगड़ा लगाओ और राज करो, ममता बनर्जी पर बरसे अमित शाह
Next articleडॉ हर्षवर्धन बोले, देश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं, राज्यों के पास अभी 1.58 करोड़ डोज हैं मौजूद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here