Home देश सरकार ने रक्षा उपक्रमों की हिस्सेदारी को बेचकर पाए 26 हजार करोड़

सरकार ने रक्षा उपक्रमों की हिस्सेदारी को बेचकर पाए 26 हजार करोड़

11
0

नई दिल्ली । रक्षा मामलों के सरकारी क्षेत्र के छह उपक्रमों में सरकार ने अपनी हिस्सेदारी कम कर बीते पांच साल में 26,457 करोड़ रुपये अर्जित किए। सोमवार को यह जानकारी रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने राज्यसभा को दी। एक सवाल के जवाब में नाइक ने बताया कि सबसे ज्यादा 14,184 करोड़ रुपये हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) की हिस्सेदारी बेचकर जुटाए गए। जबकि 8,073 करोड़ रुपये भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) से जुटाए गए। इसी प्रकार से 2,371 करोड़ रुपये भारत डायनामिक्स लिमिटेड (बीडीएल) में हिस्सेदारी कम करके जुटाए गए। इसके अतिरिक्त मिश्र धातु निगम लिमिटेड, गार्डेन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड और मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड की हिस्सेदारी बेचकर धन एकत्र किया गया। नाइक ने बताया कि विनिवेश मंत्रालय के जरिये यह बिक्री प्रबंधन की स्थितियों में बदलाव किए बगैर की गई। इसके जरिये रक्षा निर्माण क्षेत्र में निजी क्षेत्र की भागीदारी बढ़ाई गई है। जिन उपक्रमों की हिस्सेदारी बेची गई है, वे विमान निर्माण, मिसाइल निर्माण, लड़ाकू जहाज के निर्माण और अंतरिक्ष में जाने वाले सेटेलाइट के उपकरण बनाने के कार्य से जुड़े हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here