Home देश महाराष्ट्र में कोरोना विस्फोट से केंद्र ‘बेहद चिंतित’, कहा- वायरस को हल्के...

महाराष्ट्र में कोरोना विस्फोट से केंद्र ‘बेहद चिंतित’, कहा- वायरस को हल्के में नहीं लिया जा सकता

9
0

मुंबई। देश के कई राज्यों समेत महाराष्ट्र राज्य में भी कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर तेजी देखी जा रही है। वहीं कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों ने केंद्र के माथे पर भी सिलवट ला दी हैं। नीति आयोग के सदस्य डॉ। वीके पॉल ने गुरुवार को कहा कि केंद्र सरकार महाराष्ट्र में कोरोनोवायरस के मामलों में बढ़ोतरी को देखकर “बहुत चिंतित हैं”। उन्होंने कहा कि अगर देश को कोविड-मुक्त बनाना है तो वायरस को हल्के में नहीं किया जा सकता है। बता दें कि डॉ। वीके पॉल की ये टिप्पणी महाराष्ट्र सरकार द्वारा नागपुर में 15 मार्च से 21 मार्च तक यानी एक सप्ताह के तालाबंदी की घोषणा के बाद आई है। गौरतलब है कि पिछले 24 घंटों में नागपुर में 1800 कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं।
महाराष्ट्र को लेकर बेहद चिंतित
डॉ। वीके पॉल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि, हम महाराष्ट्र को लेकर बहुत चिंतित हैं। यह एक गंभीर मामला है। उन्होंने कहा कि इसके दो सबक मिलते हैं – अगर हमे कोविड मुक्त रहना है तो वायरस को हल्के में नहीं लेना है, दूसरे हमें कोविद नियमों का पालन करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि, “अगर हमें संक्रमण से मुक्त रहना है तो कोविड-19 के संदर्भ में उचित तौर-तरीका, रोकथाम रणनीति अपनाने के साथ टीकाकरण का रास्ता अपनाना होगा।ÓÓ
महाराष्ट्र कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य
बता दें कि महाराष्ट्र, देश में कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है। रात के करीब आठ बजे जारी बुलेटिन के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 14,317 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं।इतने ही समय में 57 लोगों की मौत हुई है। राज्य में अब तक 22,66,374 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इनमें से 21,06,400 लोग ठीक हो चुके हैं। 52,667 लोगों की मौत हुई है।कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कई इलाकों में सख्त लॉकडाउन की चेतावनी दी है। ठाकरे ने कहा, ”महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए कड़ाई से लॉकडाउन लगाया जाएगा। लॉकडाउन के उपायों की घोषणा करने से पहले सरकार अधिकारियों के साथ विशेष बैठक करने जा रही है।ÓÓ वहीं इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च के प्रमुख डॉ बलराम भार्गव का कहना है कि महाराष्ट्र में सबसे खराब ट्रेंड देखने को मिल रहा है, यहां मिले कोरोना के नए वायरस का असर नहीं दिख रहा है बल्कि टेस्टिंग में कमी और बड़े स्केल पर कोविड गाइलाइंस का पालन करने में लापरवाही भी दिख रही हैं।
6 राज्यों में बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के मामले
इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है छह राज्यों, महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और तमिलनाडु में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां पिछले 24 घंटे में देश में आए कुल मामलों की 85 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी रही है। बता दें कि पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 22,854 मामले सामने आए हैं। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्यादा कोविड 19 के नए मामले 13,659 महाराष्ट्र से सामने आए हैं। इसके बाद करेल से 2,475, पंजाब से 1,393 मामले सामने आए हैं। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में 1 लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं। वहीं मध्य प्रदेश, गुजरात और हरियाणा टिपिंग पॉइंट पर हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हमने इन राज्यों के साथ तीन बैठकें की हैं, और सभी से सख्त कदम उठाने के लिए कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here