Home देश भाजपा ने उद्भव से नैतिकता के आधार पर मांगा इस्तीफा, महाअघाड़ी गठबंधन...

भाजपा ने उद्भव से नैतिकता के आधार पर मांगा इस्तीफा, महाअघाड़ी गठबंधन को बताया महावसूली सरकार

5
0

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे से दिल्ली की सियासत गरमा गई है। भाजपा ने महाअघारी सरकार पर हमला बोला है। भाजपा ने गृहमंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे के बाद मुख्यमंत्री उद्भव ठाकरे से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांगा है। भाजपा के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अनिल देशमुख ने अपने इस्तीफे में नैतिकता की बात की है। यह नैतिकता मुख्यमंत्री उद्भव ठाकरे में है कि नहीं? उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार का आलम यह है कि गृहमंत्री अनिल देशमुख अपना इस्तीफा शरद पवार से पूछकर देते हैं। जबकि भाजपा शुरू से ही इस मामले में अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग करती रही।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अनिल देशमुख के पद पर रहने से जांच सही नहीं हो सकती थी। मुंबई पुलिस उनके अधीन थी। फिर वह जांच कैसे कर सकती थी। इसी वजह से भाजपा शुरू से ही अनिल देशमुख से इस्तीफे की मांग कर रही थी। उन्होंने कहा कि अनिल देशमुख से हर कोई इस्तीफा मांग रहा था, लेकिन वो दे नहीं रहे थे आज तो कमाल हो गया कि उन्होंने शरद पवार से सहमति ली और इस्तीफा दे दिया। उन्होंने सवाल उठाया कि उद्धव ठाकरे मुंह कब खोलेंगे? उनका मौन कई बातों की ओर इशारा कर रहा है।

उन्होंने कहा कि ये पूरा मामला सामने आ जाएगा, क्योंकि एनआईए की खोज में सबकुछ निकल रहा है। हर रोज सचिन वझे की नई गाडिय़ां पकड़ी जा रही हैं। रविशंकर प्रसाद ने महाराष्ट्र सरकार को महाअघाड़ी नहीं महावसूली सरकार करार दिया। सनद रहे कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों को लेकर जयश्री पटेल ने बाम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। अदालत ने इसपर सीबीआई जांच के आदेश दिए। इसके बाद अनिल देशमुख ने अपने पद से इस्तीफा दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here