Home मध्यप्रदेश बंद पड़े रामराजा सुपरस्पेशलिटी हास्पिटल को कोरोना के लिए टेकओवर करने की...

बंद पड़े रामराजा सुपरस्पेशलिटी हास्पिटल को कोरोना के लिए टेकओवर करने की तैयारी, कमिश्नर मौके पर पहुंचे

49
0

टीकमगढ़. निवाड़ी जिले में स्थित सर्वसुविधा युक्त एक बड़े हास्पिटल को टेकओवर करने की तैयारी प्रशासन कर रहा है। इसको लेकर शासन स्तर पर चर्चा हुई, जिसके बाद निवाड़ी जिले के प्रतापपुरा में स्थित रामराजा सुपरस्पेशलिटी हास्पिटल में शुक्रवार की दोपहर सागर कमिश्नर मुकेश कुमार शुक्ला पहुंच गए। रामराजा हास्पिटल का मुआयना कर कमिश्नर द्वारा प्रतिवेदन शासन को भेजा जाएगा, जहां से गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव राजेश राजौरा निर्णय लेकर आदेश जारी करेंगे। इसमें उत्तरप्रदेश सरकार से भी अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की बातचीत हो गई है, जिसमें उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा भी मदद की जाएगी।

गौरतलब है कि 300 बिस्तर से ज्यादा का रामराजा हास्पिटल प्रतापपुरा में उप्र-मप्र की सीमा पर ही करीब दो साल पहले खोला गया था, जो कुछ दिनों तक चलता रहा। लेकिन अचानक ही दो पार्टनरों में विवाद होने के बाद हास्पिटल बंद हो गया। वर्तमान में कोरोना संक्रमण के दौरान जिला अस्पताल सहित कोविड केयर सेंटर में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इससे स्वास्थ सुविधाओं का लाभ संक्रमितों को बेहतर तरीके से नहीं मिल रहा है। ऐसे में अब रामराजा हास्पिटल को टेकओवर करने की मुहिम पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने छेड़ दी, तो वह स्वयं ही झांसी पहुंच गईं। पूर्व सीएम उमा भारती ने दोनों ही पार्टनरों से पहले फोन पर और बाद में उन्होंने बैठकर आपसी झगड़े को सुलझाकर हास्पिटल चालू करने की समझाइश दी। लेकिन वह मानने को तैयार नहीं है। ऐसे में पूर्व सीएम ने कह दिया कि अगर आपसी विवाद खत्म कर हास्पिटल कोरोना काल के दौरान चालू नहीं किया जाता है, तो मप्र सरकार इसे टेकओवर कर लेगी।

अस्पताल में हैं सभी सुविधाएं- इस हास्पिटल में सभी प्रकार की सुविधाएं हैं। 300 से ज्यादा बिस्तर वाले इस हास्पिटल में न तो वेंटीलेटर की कमी है और न ही आक्सीजन की। हवा से आक्सीजन बनाने वाला स्वयं का प्लांट इस हास्पिटल में लगा हुआ है। इससे आक्सीजन की कमी भी दूर होगी। वहीं प्रत्येक पलंग पर आक्सीजन की लाइन डली हुई है। इसके अलावा पर्याप्त मैदान और सीटी स्कैन के अलावा विभिन्न प्रकार की मशीनें भी यहां पर हैं। ऐसे में मप्र सरकार द्वारा टेकओवर करने के बाद बुंदेलखंड में संक्रमितों को बेहतर इलाज मिल सकेगा।

कमिश्नर दौर कर बना रहे जानकारी- कमिश्नर मुकेश कुमार शुक्ला, निवाड़ी कलेक्टर आशीष भार्गव, सीएमएचओ डा. शिवेंद्र कुमार चौरसिया के अलावा विभिन्न अधिकारी इस हास्पिटल में शुक्रवार को पहुंच गए, जिन्होंने हास्पिटल खुलवाते हुए सभी विभागों का मुआयना किया। इसके अलावा मशीनों को देखा और जानकारी जुटाई। जानकारी एकत्र कर अब कमिश्नर प्रतिवेदन शासन को भेजेंगे। इसके बाद एक-दो दिनों में ही इस हास्पिटल में इलाज शुरू होने की संभावनाएं हैं, जिसमें मेडिकल स्टाफ उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा दिए जाने की बात पूर्व सीएम उमा भारती ने कही है। उन्होंने कहा कि मेरी उप्र-मप्र दोनों ही सरकारों से बात हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here